यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

भाई-बहन में अवैध संंबंध के शक में पंचायत का तुगलकी फरमान


🗒 शनिवार, नवंबर 20 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
भाई-बहन में अवैध संंबंध के शक में पंचायत का तुगलकी फरमान

सीतापुर, । सदरपुर के कोठिला गांव में एक बिरादरी की पंचायत ने अजीबोगरीब फरमान सुना डाला। अवैध संबंधों के शक में एक परिवार का हुक्का-पानी बंद कर दिया। उक्त परिवार का सामाजिक बहिष्कार करने का फैसला सुनाते हुए इनके लिए धार्मिक स्थल पर प्रवेश भी प्रतिबंधित कर दिया गया है। इस सजा के खिलाफ पीडि़त ने शनिवार को थाने में तहरीर दी है।पीडि़त युवती ने तहरीर में पुलिस को बताया है कि कुछ कहासुनी होने पर वह नाराज होकर बुआ के घर आ गई थी। विवाद की जानकारी होने पर स्वजन उसे बुआ के घर से ले आए थे। गांव के ही दो मौलानाओं ने उस पर सगे भाई के साथ अवैध संबंध का आरोप लगाया। उन मौलाना की अगुवाई वाली बैठक के बाद पंचायत ने पिता और भाई का हुक्का-पानी बंद करने का फतवा जारी कर दिया। बिरादरी के किसी भी सदस्य को उनके घर आने-जाने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।पंचायत की तरफ से एक रजिस्टर में लिखे गए तुगलकी फरमान में बिरादरी के किसी सदस्य को पीडि़त युवती के घर के दरवाजे पर न जाने को कहा गया है। कोई भी उन्हें अपनी खुशी या गम में न बुलाए, यह भी पंचायत में तय हुआ है। इसमें पीडि़त परिवार गांव की सभी इबादतगाहों से दूर रहने के लिए कहा गया है। मदरसे में जाने पर भी प्रतिबंध लगाया गया है। रजिस्टर में लिखा गया है कि फतवा के खिलाफ जो भी इस परिवार से संबंध रखेगा उसे 10 हजार रुपये जुर्माना देना होगा।पीड़‍िता की तहरीर मिली है। भाई से अवैध संबंधों के शक में फरमान सुनाए जाने का मामला सामने आया। एक मौलाना इससे इन्कार कर रहा है। जांच की जा रही है, कार्रवाई कर रहे हैं। -अमित भदौरिया, थानाध्यक्ष सदरपुर