प्रियंका गांधी वाड्रा का अनुच्छेद 370 हटाने पर बड़ा बयान, केंद्र सरकार पर लगाया आरोप

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

प्रियंका गांधी वाड्रा का अनुच्छेद 370 हटाने पर बड़ा बयान, केंद्र सरकार पर लगाया आरोप


🗒 मंगलवार, अगस्त 13 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

कांग्रेस महासचिव तथा उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी ने मंगलवार को सोनभद्र नरसंहार में पीड़ित परिवारों से किया गया वादा आज निभाया। मिर्जापुर से 20 जुलाई को लौटने वाली प्रियंका गांधी वाड्रा आज सोनभद्र के उभ्भा गांव पहुंची और पीड़ित परिवारों से मिलीं।उभ्भा गांव के पीड़ितों से भेंट करने के बाद गांव से बाहर निकलीं प्रियंका गांधी वाड्रा ने मीडिया से बात की। इस दौरान उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को जिस तरह से हटा गया, वह तरीका गलत था। इस प्रकरण पर पहली बार प्रियंका गांधी ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। प्रियंका ने कहा कि जिस तरह से यह सब कुछ किया गया वह पूरी तरह से असंवैधानिक था। यह लोकतंत्र के सभी सिद्धांतों के विरुद्ध था।प्रियंका गांधी इस मामले में पार्टी लाइन पर रहीं। उन्होंने कहा कि यह पूरी तरह से असंवैधानिक था। उन्होंने कहा कि ऐसा कुछ भी करने के लिए नियम बने हैं। उन नियमों का पालन किया जाना चाहिए, लेकिन इस मामले में ऐसा कुछ भी नहीं किया गया। जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाने के मुद्दे पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि यह असंवैधानिक है। इससे पहले कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा था कि केंद्र सरकार ने जो फैसला लिया है, वह संविधान का उल्लंघन है और इस फैसले से राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरा हो सकता है।नरसंहार पीड़ितों से मिलने उभ्भा पहुंचीं प्रियंका वाड्रा दो घंटे तक गांव में रहीं। इस दौरान प्राथमिक विद्यालय परिसर में परिजनों से मिलने के लिए बनाए गए स्थल पर 1.30 बजे पहुंची। जहां बैठने के लिए लगाई गई कुर्सी पर न बैठकर पीड़ित महिलाओं के बीच जाकर जमीन पर बिछाई गई दरी पर बैठ गईं। इसके बाद एक-एक करके मृतकों के परिजनों से मुलाकात कर उनकी स्थिति पूछते हुए सांत्वना दीं। गांव से लौटते समय मीडिया से कहा कि घटना बहुत बड़ी है, लेकिन इसके बाद भी प्रशासन द्वारा पीड़ितों को परेशान किया जा रहा है। इसे कांग्रेस उच्च सदन में उठाएगी। इसके साथ ही घटना के चश्मदीद रामराज व रामधनी से पूरे घटनाक्रम को जाना। लगभग सवा घंटे इनके बीच बिताने के बाद प्रियंका वाड्रा गांव की एक महिला के साथ घटनास्थल पर जाकर खेत को देखा। वहां से आने के बाद मृतकों के घर जाकर घर की स्थिति देखी। इस दौरान कुछ पीड़ितों को दिल्ली भी बुलाया। इसके बाद साढ़े तीन बजे वाराणसी के लिए रवाना हुईं। इस दौरान सुरक्षा की चौकस व्यवस्था रही। प्रियंका ने पीड़तों के परिजनों से कहा कि वह हमेशा उनके साथ हैं। प्रियंका गांधी वाड्रा वाराणसी व मिर्जापुर होते हुए सोनभद्र के उभ्भा गांव पहुंची। यहां उभ्भा गांव के प्राथमिक विद्यालय परिसर में परिजनों से मिलने के बाद गांव की एक महिला के साथ घटनास्थल भी देखने गईं। प्रियंका ने पीड़ितों से 17 जुलाई की घटना के दिन की स्थिति, घटना के बाद की स्थिति और आज की स्थिति के बारे में जाना। इसके साथ ही कहा कि वह लोग क्या चाहते हैं। इस दौरान पीड़ित परिवार ने कहा कि हमारे बच्चों को नौकरी मिले, हमारे ऊपर दर्ज हुए मुकदमे वापस हों, घटना के लिए दोषी भूर्तिया परिवार को फांसी दी जाए। इसके साथ ही कहा कि नरसंहार के बाद इस घटना में कुछ बेकसूर लोगों को पुलिस पकड़ी है, जबकि दोषी बाहर घूम रहे हैं। निर्दोष लोगों को छोड़ा जाए। इस पर प्रियंका ने वहां मौजूद कांग्रेस नेताओं से कहा कि वह इसके लिए डीएम व एसपी से बात करें। इसके बाद प्रियंका घायलों से मुलाकात करके उनका हाल जानते हुए घटना के बारे में जानकारी ली।

प्रियंका गांधी वाड्रा का अनुच्छेद 370 हटाने पर बड़ा बयान, केंद्र सरकार पर लगाया आरोप

सोनभद्र से अन्य समाचार व लेख

» सोनभद्र में गला रेतकर आदिवासी की हत्या

» सोनभद्र मे सौतेली मां की दिनदहाड़े चाकू घोंपकर हत्या

» सोनभद्र मे सीएम के जाते ही पड़ोसी गांव में डायन का आरोप लगाकर वृद्धा की पीटकर हत्या

» सोनभद्र मे मुख्यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ बोले कांग्रेस की शहजादी उभ्भा में सिर्फ राजनीति कर रही हैं

» जिला सोनभद्र में जमीन के विवाद में कुल्‍हाड़ी से काटकर अधेड़ की हत्‍या

 

नवीन समाचार व लेख

» पारा के कनक सिटी में जब अवैध संबंध में रोड़ा बनने लगा किराएदार, मकान मालिक ने कर दी हत्या

» बाबरी मस्जिद के पक्षकार के आवास पर बैठक मुस्लिमों ने कहा सुप्रीमकोर्ट का फैसला हमें मान्य

» लविवि में बोले उपमुख्यमंत्री मूलभूत सुविधाओं तक हर व्यक्ति की पहुंच जरूरी

» अयोध्या मामले में इस हफ्ते बंद हो जाएंगे दलीलों के दरवाजे, दिवाली के बाद आएगा फैसला

» नर्वल में दोहरा हत्याकांड में आरोपित पति को गिरफ्तार करके पुलिस ने जेल भेजा