नहीं है आपका घर तो सरकार को ऐसे ऑनलाइन आवेदन आपको मिलेगा घर

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

नहीं है आपका घर तो सरकार को ऐसे ऑनलाइन आवेदन आपको मिलेगा घर


🗒 रविवार, जुलाई 28 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
नहीं है आपका घर तो सरकार को ऐसे ऑनलाइन आवेदन आपको मिलेगा घर

दिल्ली में एक अनूठी तलाश शुरू होने को है। यह तलाश है घर के नाम बेघरों की। दिलचस्प तथ्य यह है कि तलाश पूरी होने के बाद भी इन बेघरों को घर नहीं दिया जाएगा बल्कि सिर्फ डाटाबेस तैयार किया जाएगा। हां, भविष्य में अगर कोई योजना बनती है, तब अवश्य ही ऐसे बेघरों को घर देने पर विचार किए जाएगा।दरअसल, दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए) प्रधानमंत्री आवास योजना (पीएमएवाइ) के अंतर्गत दिल्ली में बेघरों की गणना के लिए एक सर्वेक्षण शुरू करने जा रहा है। यह सर्वेक्षण ऑनलाइन होगा। सर्वेक्षण के तहत उन लोगों से ऑनलाइन आवेदन मांगे जाएंगे, जिनके पास अपना घर नहीं है।सभी आवेदन डीडीए के पोर्टल डब्ल्यू डब्ल्यू डब्ल्यू डॉट डीडीए डॉट ओआरजी डॉट इन [www.dda.org.in] पर किए जाएंगे। आवेदन निजी स्तर पर भी किए जा सकेंगे और विभिन्न स्थानों पर संचालित डीडीए के नागरिक सेवा केंद्रों की सहायता से भी जमा कराए जा सकेंगे। किसी भी कार्यालय के जरिये प्राप्त ऑफलाइन आवेदनों पर विचार नहीं किया जाएगा।डीडीए अधिकारियों के मुताबिक यह पोर्टल एक अगस्त से 30 सितंबर 2019 के बीच खुला रहेगा। जेजे कलस्टरों में रहने वाले लोगों के आवेदन इसमें स्वीकार्य नहीं होंगे। दो महीने के दौरान डीडीए के पास जितने भी आवेदन आएंगे, उन सभी का डाटाबेस बनाया जाएगा।अधिकारी बताते हैं कि अभी यह डाटाबेस केवल रिकॉर्ड के लिए तैयार किया जा रहा है। अलबत्ता, पीएमएवाइ (शहरी) के तहत नीति दिशानिर्देशों के अनुसार जब भी कभी डीडीए की ओर से ऐसी कोई स्कीम शुरू की जाएगी तो सब्सिडी या आवंटन के लिए इस डाटाबेस में से योग्य आवेदकों के नाम पर विचार किया जाएगा।डीडीए के उपाध्यक्ष तरुण कपूर ने बताया क‍ि यह ऑनलाइन सर्वेक्षण केंद्रीय आवास एवं शहरी विकास मंत्रालय के निर्देश पर शुरू किया जा रहा है। इसकी एक प्रमुख वजह बेघरों का आंकड़ा एकत्र करना तो है ही, उस फर्जीवाड़े को भी रोकना है जो प्रधानमंत्री आवास योजना के नाम पर लगातार चल रहा है। इस सर्वेक्षण के जरिये आने वाले आवेदनों पर फिलहाल भले घर न दिए जाएं, लेकिन सभी के लिए आवास योजना के तहत देर सवेर मिलेंगे जरूर।  

विशेष से अन्य समाचार व लेख

» कविता-भारत माँ के कृषक पुत्र हम................

» कविता -कृषक आज हम भारत के कहाँ चैन से सोते है .......

» कविता -बिरोधी से यदि लड़ना है तो, निज कमियों से लड़ना होगा।।

» भारत में ओन-लाइन मनाया गया विश्व फालुन दाफा दिवस

» बिहार के एक मजदूर का ऐसा दर्द उनकी आंखों से भी आंसू निकल पड़े।

 

नवीन समाचार व लेख

» बिजनौर में पुलिस पर हमला करने वाले हिस्ट्रीशीटर समेत दो गिरफ्तार

» भाजपा नेता ने दी चेतावनी, कहा- दो दिन में नहीं हुई गिरफ्तारी तो शासन के खिलाफ दूंगा धरना

» गोरखपुर में दिन दहाड़े स्‍कूटी सवार मां-बेटी को घेरकर गोली मारी, मां की मौत

» मकनपुर में वायरल पोस्ट से हुए बवाल के बाद लोग घबराकर छोड़ रहे घर

» उन्नाव पुलिस पर कुमार विश्वास का कविता भरा करारा तंज, एसपी ने चौकी इंचार्ज पर की कार्रवाई