यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

यूपी की 'फरार दुल्हन' का हैरान करने वाला सच, सोशल मीडिया में भी हो रही चर्चा


🗒 सोमवार, अगस्त 12 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

दिल्ली से सटे उत्तर प्रदेश के गौतबुद्धनगर में नामी गैंगस्टर राहुल ठसराना से शादी करके चर्चा में आई  तथाकथित महिला पुलिस कॉन्स्टेबल को लेकर सनसनीखेज खुलासा हुआ है। नोएडा, ग्रेटर नोएडा समेत कई शहरों में चर्चा का विषय बन चुकी इस दुल्हन को लेकर खुलासा हुआ है कि गौतमबुद्धनगर के ग्रेटर नोएडा के नामी गैंगस्टर के शादी करने वाली पायल कभी यूपी पुलिस में तैनात ही नहीं रही।हैरानी की बात है कि पायल तकरीबन 8 साल से पुलिस कॉन्स्टेबल की वर्दी पहनकर लोगों को भी धोखा दे रही थी। इस खुलासे के बाद न केवल गौतमबुद्धनगर, बल्कि बुलंदशहर, गाजियाबाद, मेरठ, सहानपुर समेत दर्जनभर जिलों की पुलिस के होश उड़े हुए हैं। यह भी कम हैरानी की बात नहीं है कि पायल यूपी पुलिस की महिला कॉन्स्टेबल की वर्दी पहनकर आसपास ही सक्रिय थी, लेकिन पुलिस उसे पकड़ नहीं पाई। इसको लेकर पुलिस का कहना है कि पायल मूलरूप से मेरठ की तिगरी गांव की रहने वाली है।  जांच के दौरान पुलिस जब गांव पहुंची तो वहां के लोगों ने हैरानी करने वाली जानकारी दी। ग्रामीणों की मानें तो खासतौर से तिगरी गांव के प्रधान ने बताया कि पायल कभी भी यूपी पुलिस की कॉन्स्टेबल नहीं रही। प्रधान के मुताबिक,पुलिस की वर्दी पहन कर लोगों पर रौब झाड़न के साथ गलत कामों को भी अंजाम  देने वाली पायल की शादी 8  साल पहले ही हो गई थी, इतना ही नहीं उसके सात साल का एक बेटा भी है। वह गां में नहीं रहते ऐसे में उसके बेटे की देखभाल उसके मां-बाप ही करते हैं।ग्रामीणों का कहना है कि वह अक्सर गांव में पुलिस की वर्दी में पहुंचती थी। इससे लोगों को भ्रम भी हो जाता था कि वह पुलिसकर्मी होगी। इस दौरान वह कहती थी कि वह बरेली में बतौर होमगार्ड तैनात है। सच तो यह है कि उसका भाई वहां जेल में बंद था, जिससे मिलने वहां वह अक्सर जाती थी।वहीं, दनकौर कोतवाली के हिस्ट्रीशीटर राहुल ठसराना की वर्दी धारी पत्नी की तलाश पुलिस के लिए चुनौती बनती जा रही है। पुलिस की अलग-अलग टीमें बदमाश की पत्नी की तलाश में जुट गई है। पुलिस की अभी तक की जांच में प्रकाश में आया है कि वायरल फोटो में मौजूद बदमाश की वर्दी धारी पत्नी मेरठ के तिगरी गांव हरिद्वार रोड की रहने वाली है। गांव के लोगों के मुताबिक वह पुलिस में दारोगा के पद पर तैनात है, जबकि वायरल फोटो में उसने सिपाही की वर्दी पहनी हुई है। पुलिस जांच में यह भी पता चला कि हिस्ट्रीशीटर पति की पैरवी के दौरान वर्दी धारी पत्नी पुलिस के कई उच्च अधिकारियों से भी मिली थी। पुलिस उसकी सरगर्मी से तलाश कर रही है।बता दें कि हिस्ट्रीशीटर बदमाश राहुल ठसराना व एक महिला की शादी करते हुए मंडल की फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हुई। जिस महिला के साथ हिस्ट्रीशीटर की शादी हुई उसी की फोटो बदमाश के साथ यूपी पुलिस की वर्दी में वायरल हुई। फोटो वायरल होने के बाद एसएसपी वैभव कृष्ण ने दावा किया कि किसी महिला पुलिसकर्मी ने हिस्ट्रीशीटर से शादी नहीं की है। पुलिस के दावे के बाद सवाल उठता है कि यदि शादी करने वाली महिला पुलिसकर्मी नहीं है तो वह वर्दी में कैसे नजर आ रही है। उसकी तलाश में पुलिस की टीमें जुट गई हैं। रणविजय सिंह (एसपी देहात) के मुताबिक, महिला की तलाश की जा रही है। उसके मिलने के बाद ही स्थिति स्पष्ट हो पाएगी। अब तक की जांच में पता चला कि महिला फ्राड है। उसके द्वारा किया गया कृत्य अपराध की श्रेणी में आता है।पुलिस सूत्रों ने दावा किया है कि वर्दी धारी हिस्ट्रीशीटर की पत्नी पति की मदद करने के लिए वर्दी पहनती थी। वर्दी पहन कर वह कहां-कहां गई इसकी जानकारी जुटाई जा रही है। जब हिस्ट्रीशीटर जेल में बंद था तब भी वह उससे मिलने के लिए जाती थी। दरअसल, राहुल ठसराना से शादी करने के बाद पायल चर्चा में आ गई थी। 

यूपी की 'फरार दुल्हन' का हैरान करने वाला सच, सोशल मीडिया में भी हो रही चर्चा

विशेष से अन्य समाचार व लेख

» लखनऊ की यातायात व्यवस्था बकरीद पर बदली रहेगी

» पंचतत्व में विलीन हुईं सुषमा स्वराज, आंखें हुई नम

» जानिये क्‍या था Article 370 और जम्‍मू-कश्‍मीर में इसके लागू होने, हटाए जाने के मायने

» जम्‍मू-कश्‍मीर में मोदी सरकार के सामने अनुच्छेद 370 और 35ए को लेकर क्‍या हो सकते हैं विकल्‍प

» नहीं है आपका घर तो सरकार को ऐसे ऑनलाइन आवेदन आपको मिलेगा घर

 

नवीन समाचार व लेख

» DGP का आया फरमान, 58 साल की उम्र होने पर नहीं बन सकेंगे थानाें के इंचार्ज

» UP राज्यपाल और मुख्यमंत्री ने दी बकरीद की बधाई, शिया-सुन्नी ने एक साथ पढ़ी नमाज

» हरदोई शहर में डीएम द्वारा निलंब‍ित करनेे के आदेश को एसपी ने क‍िया रद

» हरदोई मे दारोगा जी सोते रहे, बेटा ग‍िड़ग‍िड़ाता रहा और दबंंगों ने पीट-पीटकर प‍िता को मार डाला

» अलीगढ एएमयू में पढ़ रहे कश्मीरी छात्रों ने राज्यपाल के दावतनामा को ठुकराया