सुलतानपुर में प्रेम प्रसंग से नाराज मामा व भाई ने किशोरी को गोमती में फेंका

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

सुलतानपुर में प्रेम प्रसंग से नाराज मामा व भाई ने किशोरी को गोमती में फेंका


🗒 शुक्रवार, जून 18 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
सुलतानपुर में प्रेम प्रसंग से नाराज मामा व भाई ने किशोरी को गोमती में फेंका

सुलतानपुर,। किशोरी के प्रेम संबंधों से नाराज उसके मामा व भाई ने उसे नदी में फेंक दिया। मछुवारों ने उसे बचा लिया तो सच्चाई सामने आई। किशोरी के मुताबिक मामा व भाई उसे इलाज के बहाने घर से लेकर आए थे। रात होने पर गोलाघाट के पास नदी में फेंक दिया। नदी से बचकर निकली किशोरी ने पुलिस को पूरा वृतांत सुनाया है। अब किशोरी की तहरीर पर नगर कोतवाली में मुकदमा दर्ज किया जा रहा है।एसपी डॉ. विपिन कुमार मिश्र ने बताया कि एक लड़की के गुरुवार की रात गोलाघाट के पास गोमती नदी में डूबने की सूचना मिली थी। उसे मछुवारों की मदद से पुलिस वालों ने निकलवाया। पुलिस के अनुसार पूछताछ में किशोरी ने बताया कि वह नाबालिग है और एक सजातीय लड़के से प्यार करती है। उसके माता-पिता का देहांत हो चुका है। ऐसे में वह मामा के साथ रहती है। मामा मामी व उसके भाई को रिश्ते पर आपत्ति है। वे उन्‍हें मिलने नहीं देते। हमेशा विरोध करते हैं। गुरुवार को बहाने से वे लोग उसे अस्पताल इलाज के लिए ले गए। फिर रात में मौका पाकर उसे पुल के ऊपर से नदी में मरने के लिए फेंक दिया। पुलिस वाले उसके बयान व प्रार्थना पत्र के आधार पर मामा व भाई के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की पुष्टि कर रहे हैं। नियमानुसार, किसी भी नाबालिग के साथ उत्‍पीड़न होने पर जिले की चाइल्ड लाइन व चाइल्ड वेलफेयर काउंसिल को सूचना देकर उनके द्वारा किशोर या किशोरी की एकांत में काउंसिलिंग किया जाना अनिवार्य है, लेकिन इस मामले में ऐसा कुछ नहीं किया गया। चाइल्ड लाइन के संचालक प्रताप सेवा समिति के सचिव विजय विद्रोही ने बताया कि उनको किसी नाबालिग के उत्पीड़न के बारे में कोई सूचना नहीं मिली है। अब मामला संज्ञान में आया है, किशोरी की काउंस‍िलिंगजाएगी।