यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

फ्लिप्कार्ट को लगा 20 लाख का चुना


🗒 शनिवार, अक्टूबर 03 2015
🖋 राम निवास यादव, वृन्दाबन संवाददाता मथुरा

बेंगलुरू/जालंधर : बेंगलुरू में एक युवक ने भारत की सबसे लोकप्रिय शाॅपिंग वैबसाइट फ्लिपकार्ट के साथ करीब 20 लाख रूपए की धोखाड़ी की है। यह मामला तब सामने आया जब कम्पनी ने वनस्थलीपरम् थाने में रिपोर्ट दर्ज करवाई। थाने में दर्ज करवाई गई रिपोर्ट के मुताबिक वीरा स्वामी नामक युवक ने करीब 20 महीनों में 200 आर्डर करके कम्पनी को लगभग 20 लाख रूपए का चुना लगाया।

एक हिंदी वैबसाइट की न्यूज रिपोर्ट के मुताबिक वीरा स्वामी ने अपनी मां, पत्नी, पिता, भाई और अन्य जान-पहचान के लोगों के नाम से फ्लिपकार्ट पर सामान आॅर्डर करता था। इसके बाद इस व्यक्ति का खेल शुरू होता था। आर्डर मिलने पर काॅल सैंटर को फोन पर सामान को घटिया बताया लौटा दिया जाता था। 

स्वामी असली सामान को बड़ी चालाकी से पुराने सामान के साथ बदल कर उसपर माॅडल नम्बर भी लिख देता था जिससे वह पकड़ा न जाए और कम्पनी सामान की रकम लौटा देती। कम्पनी की मानें तो स्वामी ने कई सारी फेक ई-मेल आईडी बनाई हुई है और हर बात सामान खरीदने के लिए अलग-अलग बैंक अकाऊंट का सहारा लेता था। 

मामले की जांच कर रहे वनस्थलीपुरम् थाने के सीनियर इंस्पैक्टर पी.पुष्पम कुमार ने कहा कि हम कम्पनी की और से दर्ज कराई गई शिकायत की जांच कर रहे हैं और साथ ही आरोपी का पक्ष भी जानेंगे।

फ्लिप्कार्ट को लगा 20 लाख का चुना

इस सप्ताह में से अन्य समाचार व लेख

» इलाहाबाद बैंक द्वारा फाइनेंसियल इंक्लूजन से संबंध मीटिंग का आयोजन किया गया

» श्री गौड़ बाबा के स्थान पर एक दिवसीय मेला का आयोजन

» उगहो सूरजदेव, चिनहट के घाट

» पपीते की पत्तो की चाय पीने से किसी भी स्टेज के कैंसर को 60 से 90 दिनो मे जड़ से खत्म कर सकती है

» आजम खान है छुट्टा सांड !

 

नवीन समाचार व लेख

» तिलोक पुरवा मंदिर के निकट बीती रात हुआ भीषण एक्सीडेंट दो की मौत एक घायल।

» क्रांतिकारी जनसंघर्ष मोर्चा सामाजिक संगठन ने किया बृक्षारोपण।

» आगरा मे अनबन पर प्रेमिका ने खाया जहर; अस्पताल में देखने पहुंचे प्रेमी के परिवार को लड़की के घरवालों ने पीटा

» जिला गोंडा में भाजपा के बूथ अध्यक्ष पर कुल्हाड़ी से जानलेवा हमला, हालत गंभीर

» अब गलत शिकायत पर दंड के प्रावधान पर पुनर्विचार करेगा चुनाव आयोग