यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

वांछित को पकड़ने गई पुलिस से हाथापाई, आरोपित हाथ छुड़ाकर भाग निकला


🗒 सोमवार, अगस्त 15 2022
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
वांछित को पकड़ने गई पुलिस से हाथापाई, आरोपित हाथ छुड़ाकर भाग निकला

उन्नाव, ।  गंगाघाट क्षेत्र के ऋषिनगर के गाजीखेड़ा मुहल्ले में सोमवार दोपहर लगभग 12:30 बजे जानलेवा हमले की नीयत से फायरिंग के मामले में वांछित मुन्ना माइकल को उसके घर से पकड़कर ला रही पुलिस को परिवार व मुहल्ले के लोगों ने घेरकर हाथापाई की।इस दौरान आरोपित पुलिस से हाथ छुड़ाकर भाग निकला। लगभग एक घंटे तक बवाल चला। पुलिस को जान बचाकर वहां से लौटना पड़ा।वांछित मुन्ना माइकल की बहन कोमल, ज्योति, प्रीति व रेनू के अलावा मां सुनीता व पिता विष्णु निषाद का आरोप है कि मुन्ना को पकड़ने सादी वर्दी में सिपाही केके वर्मा, शेरा व सत्येंद्र घर आए। एसपी का जन्मदिन होने की बात कहकर 10 हजार रुपये की मांग की। पहले भी सिपाही केके वर्मा दो बार में 35 हजार रुपये ले जा चुका है। ज्योति ने बताया कि वह गर्भ से है।सिपाहियों ने उसके पेट में लात मार दी। मामले का वीडियो बना रहे उसके भाई छोटू का मोबाइल तोड़ दिया। बता दें कि बीते दिनों सीताराम कालोनी में ईंट-पत्थर चलाने व फायरिंग के मामले में पुलिस ने 10 नामजद व 4-5 अज्ञात के विरुद्ध गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया था। जिसमें गाजीखेड़ा ऋषिनगर के रहने वाले मुन्ना माइकल का नाम भी शामिल था। मुन्ना को पकड़ने के लिए पुलिस दबिश देने पहुंची थी।वहीं, गंगाघाट कोतवाल राकेश कुमार गुप्ता ने बताया कि कोतवाली के सिपाही मरहला जा रहे थे। ऋषिनगर मोड़ के पास वांछित मुन्ना दिख गया। सिपाहियों ने उसे पकड़ लिया तो वह जमीन पर लेट गया और शोर मचाने लगा। पास में घर होने से भीड़ आ गई। भीड़ का फायदा उठाकर वह भाग निकला। सिपाहियों पर लगाए जा रहे आरोप निराधार हैं।