यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

उन्नाव में सामने आया अनोखा किस्सा, जिसकी हत्या में बेगुनाह जेल गया वह महाराष्ट्र में जिंदा मिली


🗒 बुधवार, अक्टूबर 14 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
उन्नाव में सामने आया अनोखा किस्सा, जिसकी हत्या में बेगुनाह जेल गया वह महाराष्ट्र में जिंदा मिली

उन्नाव,वाकई गजब है पुलिस की कार्यशैली... जिस महिला की हत्या में युवक को जेल भेजा वह महाराष्ट्र में बेफिक्री से नौकरी कर रही थी। इस सच से पर्दा तब उठा, जब मुंबई में खोले गए बैंक खाते का एटीएम आधार कार्ड पर दर्ज महिला के मूल पते पर पहुंचा। स्वजन के जांच की गुहार लगाने पर पुलिस के कान खड़े हुए। अब सच सामने लाने की बात कहकर पुलिस पीठ थपथपा रही है, लेकिन बड़ा सवाल ये है कि वह कैसी विवेचना थी, जिसमें निर्दोष युवक जेल भेज दिया गया।सदर कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला जुराखनखेड़ा निवासी योगेंद्र कुमार ने 22 मार्च 2018 को मोहल्ले के ही प्रमोद वर्मा पर पत्नी श्वेता गुप्ता को कहीं ले जाने का मुकदमा आसीवन थाने में लिखाया था। इसके 12 दिन बाद दो अप्रैल 2018 को थानाक्षेत्र के शेरपुर कलां गांव के पास एक अज्ञात महिला का जला शव मिला था। सामान और कपड़ों से पति योगेंद्र ने उसकी शिनाख्त अपनी पत्नी के रूप में की थी। तत्कालीन एसओ सियाराम वर्मा ने प्रमोद को आरोपित बनाया। विवेचक जयशंकर ङ्क्षसह ने उसे जेल भेज दिया। युवक 14 महीने जेल में रहा और अब मुकदमे की तारीख पर न्यायालय के चक्कर काट रहा है। पुलिस का दावा है कि महिला आसीवन के मियागंज चौराहा के पास मिली। एसपी आनंद कुलकर्णी ने पर्दाफाश करने वाली टीम को 10 हजार रुपये के इनाम की घोषणा के साथ प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया है।महिला के स्वजन से एटीएम कार्ड की जानकारी मिलने के बाद एसओ राजेश ङ्क्षसह ने जली महिला की डीएनए रिपोर्ट कोर्ट से ली। इसके बाद श्वेता की बेटी गौरी व अन्य स्वजन का डीएनए टेस्ट कराया। वह जली महिला के डीएनए से मेल न खाने पर पुलिस ने जांच तेज की थी।श्वेता ने बताया कि उसे श्रद्धा व मुन्नू बाबू गुप्ता ने गोद लिया था। उसकी शादी कक्षा आठ पास करने के बाद योगेंद्र से हुई थी। पति की प्रताडऩा से क्षुब्ध होकर परीक्षा देने का बहाना कर घर छोड़ा था। मुंबई पहुंचने पर शबाना नाम की महिला ने अहमद नगर महाराष्ट्र में नौकरी दिला दी। वहां वह अविनाश नाम के व्यक्ति के साथ रहती थी।महिला जिंदा है तो फिर जला शव किसका था। अब यह सवाल पुलिस के लिए चुनौती है।एसपी ने बताया कि निर्दोष युवक पर चल रहा हत्या का मुकदमा वापस कराने के लिए न्यायालय में रिपोर्ट भेजेंगे। साथ ही जांच कराकर दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। 

उन्नाव से अन्य समाचार व लेख

» उन्नाव मे दुष्कर्म पीडि़ता की मौत के बाद से गांव में तैनात है पुलिस-पीएसी, फिर भी बच्चा हुआ गायब

» नगर पालिका की गाड़ियों को पेट्रोल पम्प मालिकों ने पुराने बिल का भुगतान न करने पर डीजल देने से किया इनकार ,

» सीएम ने 51 योजनाओं का लोकार्पण कर 17 योजनाओं का किया शिलान्यास

» उन्नाव नगर पालिका के वार्ड नं 19 के सभासद अवधेश कुमार यादव ने पत्र लिख कर इओ व इस्पेक्टर संजीव वर्मा पर सफाई को लेकर लगाए आरोप

» उन्नाव पुलिस पर कुमार विश्वास का कविता भरा करारा तंज, एसपी ने चौकी इंचार्ज पर की कार्रवाई

 

नवीन समाचार व लेख

» बिकरू मामले में इनामी उमाशंकर ने पुलिस को चकमा देते हुए न्यायालय पहुंचकर किया आत्मसमर्पण

» हमीरपुर में रानी लक्ष्मीबाई तिराहे के पास स्थित होटल में घुसा मौरंग भरा ट्रक

» बांदा में छेड़खानी की शिकार हुई किशोरी ने लोगों के तानों से क्षुब्ध होकर फंदा लगाकर दी जान

» प्रतापगढ़ में एक लाख के इनामी सभापति के घर कुर्की की नोटिस चस्पा,

» कौशांबी में पत्‍नी और बेटी का कातिल साली संग गिरफ्तार,