उन्नाव में सरकारी अस्पतालों के 16 डॉक्टरों ने दिया सामूहिक त्यागपत्र, कहा- अफसरों का गलत व्यवहार बर्दाश्त नहीं

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

उन्नाव में सरकारी अस्पतालों के 16 डॉक्टरों ने दिया सामूहिक त्यागपत्र, कहा- अफसरों का गलत व्यवहार बर्दाश्त नहीं


🗒 बुधवार, मई 12 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
उन्नाव में सरकारी अस्पतालों के 16 डॉक्टरों ने दिया सामूहिक त्यागपत्र, कहा- अफसरों का गलत व्यवहार बर्दाश्त नहीं

उन्नाव,  जिले के 16 सामुदायिक और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र प्रभारियों ने बुधवार को प्रभारी पद से  सामूहिक त्यागपत्र दे दिया। सीएमओ कार्यालय पहुंच सीएमओ की अनुपस्थिति में एसीएमओ डॉ. तन्मय कक्कड़ को प्रभारी पद से त्यागपत्र दे दिया है। त्यागपत्र देने वाले प्रभारियों का आरोप है कि संक्रमण काल में विपरीत परिस्थितियों में काम करने के बावजूद मानसिक और आर्थिक प्रताडऩा के साथ अधिकारी बेवजह कार्रवाई कर दबाव बना रहे हैं। जब कि हम सभी कोरोना काल की शुरुआत 2020 से लगातार पूरी निष्ठा के साथ स्वास्थ्य सेवाएं व विभिन्न स्वास्थ्य कार्यक्रमों का संचालन करते आ रहे हैं। कोरोना काल में संसाधन न मिलने के बाद भी हम लोग संक्रमण से पीडि़त लोगों को स्वास्थ्य सेवाएं देते आ रहे हैं। प्रभारी चिकित्साधिकारियों ने  अफसरों पर गलत व्यवहार व बेवजह दबाव बनाने का आरोप भी लगाया। इस्तीफा देने वालों में 11 सीएचसी व पांच पीएचसी के चिकित्साधिकारी शामिल हैं। प्रभारियों में डॉ. ब्रजेश ने बताया कि बेवजह दबाव बना मानसिक और वेतन आदि रोक कर आर्थिक शोषण किया जा रहा है। पीएमएस सचिव डॉ. संजीव से सीएमओ की वार्ता हुई है। गुरुवार को सीएमओ के साथ बैठक में विस्तृत चर्चा होगी। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य सेवाएं और कोविड-19 के कार्य बाधित नहीं होंगे सिर्फ प्रभारी पद का कार्य नहीं किया जाएगा। प्रभारी चिकित्साधिकारियों ने जो सामूहिक त्यागपत्र दिया है। उसमें कहा है कि असोहा व फतेहपुर चौरासी प्रभारी चिकित्साधिकारी के विरुद्ध बिना आरोप पत्र दिए व स्प्ष्टीकरण लिए अधीक्षक पद से हटाकर कोविड कंट्रोल रूम में लगा दिया गया है। स्वास्थ्य अधिकारियों द्वारा की जा रही मनमानी कार्यवाही से आजिज आकर हम सभी प्रभारी चिकित्साधिकारी पद को सामूहिक रूप से छोड़ रहे हैं।त्यागपत्र देने वाले प्रभारी चिकित्साधिकारियों का कहना है कि प्रभारी का पदभार नहीं देखूंगा, लेकिन कोविड महमारी के कार्यों व मरीजों के इलाज का कार्य डॉक्टर के रूप में करता रहूंगा। सामूहिक त्याग पत्र डीएम और सीएमओ के साथ ही अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, महानिदेशक चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, अपर स्वास्थ्य निदेशक लखनऊ मंडल, डीएम के साथ ही पीएमएस को भी भेजा गया है। 

उन्नाव से अन्य समाचार व लेख

» उन्नाव में वायुसैनिक हत्याकांड का दूसरा आरोपित गिरफ्तार

» उन्नाव में चुनावी रंजिश बनी बुजुर्ग की निर्मम हत्या ,दारोगा-सिपाही निलंबित

» उन्नाव में पुलिस पर ग्रामीणों ने किया पथराव, तीन घंटे तक चला बवाल

» उन्नाव में खेत गई किशोरी के साथ युवक ने किया दुष्कर्म

» उन्नाव में प्रेम प्रसंग में युवक की गला रेतकर हत्या

 

नवीन समाचार व लेख

» मुख्तार अंसारी के 14 दिन के रिमांड को तामिला कराएगी पुलिस

» मेरठ में पत्नी का गला दबाने का आरोपित दिल्ली से गिरफ्तार

» मेरठ में महिला कांस्टेबल के साथ हैवानियत, जेठ ने फाड़े कपड़े, ससुर ने किया दुष्कर्म

» कानपुर के बर्रा में बाबा बनकर टप्पेबाजी करने वाले दो शातिरों को भीड़ ने पकड़कर पीटा

» भाजपा विधायक आवास में बंधक बनाकर बेटी से किया दुष्कर्म