यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

युवती की पोस्टमार्टम रिपाेर्ट में खुलासा, पीटने के बाद गला दबाकर की थी हत्या


🗒 शुक्रवार, फरवरी 11 2022
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
युवती की पोस्टमार्टम रिपाेर्ट में खुलासा, पीटने के बाद गला दबाकर की थी हत्या

उन्नाव, । दलित युवती के शव की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में उसकी गला दबाकर हत्या करने की पुष्टि हुई है। उससे मारपीट भी हुई थी। उसके गले की हड्डी टूटी मिली है और सिर पर दो चोटें मिली हैं। पोस्टमार्टम करने वाले पैनल में डा. अजीत सिंह, डा. संजीव कुमार व डा. निधि दुबे रहे। पूरे पोस्टमार्टम की वीडियोग्राफी कराई गई। डाक्टरों के अनुसार, दुष्कर्म की पुष्टि को स्लाइड लैब भेजी है। डीएनए के लिए उसकी पसली, हसली, नाखून व सीने का सैंपल लिया है। अब आरोपितों का डीएनए कराकर उससे इसका मिलान होगा।डीएम रवींद्र कुमार ने स्वजन को आश्वासन दिया कि परिवार के एक सदस्य को संविदा पर नौकरी, आवास, 25 लाख रुपये और उनकी सुरक्षा को गनर दिया जाएगा। इस मांगपत्र पर एएसपी ने हस्ताक्षर किये। मांगें आचार संहिता हटने पर पूरी करने की बात कही गई। आरोपितों को फांसी की मांग को न्यायपालिका का अधिकार बताया गया। बसपा प्रमुख मायावती ने ट्वीट कर सपा को सीधे तौर पर घेरा। पोस्ट किया कि उन्नाव में पूर्व सपा नेता के बेटे द्वारा घटना करना व युवती का शव मिलना दु:खद है। सरकार परिवार की मदद कर दोषियों पर कड़ी कार्रवाई करे। पूर्व बार अध्यक्ष रामशंकर यादव ने घटना को निंदनीय बताया और आरोपितों को सख्त सजा दिलाने की मांग की है। घटना के दिन ही युवती ने मुहल्ला में एक टिकटाक बनाकर पोस्ट किया था। जिसमें वह उन्हीं कपड़ों में है जो उसके शव पर मिले हैं। सूत्र बताते हैं कि उसे देखने के बाद ही रजोल ने उसे मिलने बुलाया और वारदात को अंजाम दिया।  जानकारों की मानें तो पूर्व मंत्री के आश्रम में सीसीटीवी कैमरे लगे हैं। अगर पुलिस उन्हें खंगाले तो पूरी घटना सामने आ सकती है। हालांकि, उस दिन वे चल रहे थे या नहीं, या फिर उन्हें बंद कर दिया गया था। यह अभी राज ही है। युवती की हत्या के मामले में दोषियों को जल्द से जल्द सजा दिलाने की मंशा से मामले की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में कराए जाने की मांग की जाएगी। इस बात की पैरवी स्वजन के साथ पुलिस व प्रशासनिक अफसर भी करेंगे। मामले के विवेचक व सीओ सिटी और अन्य पुलिस अधिकारियों-कर्मचारियों की भी जांच एएसपी शशि शेखर सिंह कर रहे हैं। शुरुआती कार्रवाई में देर से रिपोर्ट दर्ज करने पर सदर कोतवाली को एसपी द्वारा निलंबित किया गया है। पोस्टमार्टम के बाद शव शुक्रवार को पुलिस की कड़ी सुरक्षा के बीच जाजमऊ के चंदनघाट लाया गया। जहां दिवंगत युवती के माता-पिता व अन्य परिवारी जन अंतिम संस्कार नहीं होने दे रहे थे। वह लोग अंतिम संस्कार के पहले अपनी मांगों को पूरा करने की मांग कर रहे थे। राजनीतिक दलों के नेताओं ने भी परिवार की मांगों को पूरा किए जाने को लेकर डीएम रवींद्र कुमार व एसपी दिनेश त्रिपाठी से वार्ता की। चार घंटे तक युवती का शव लोडर पर रखा रहा। अधिकारियों द्वारा स्वजन की उचित मांगों को पूरा किए जाने के आश्वासन पर स्वजन अंतिम संस्कार के लिए राजी हो गए। इस दौरान पांच घंटे तक जाजमऊ का चंदनघाट पुलिस की छावनी बना रहा। गंगाघाट, दही, माखी और अजगैन थानों का पुलिस फोर्स पांच घंटे तक जाजमऊ के चंदनघाट पर डटा रहा। इस दौरान डीएम, एसपी, एडीएम, एएसपी, सिटी मजिस्ट्रेट आदि मौजूद रहे। अधिकारियों की मौजूदगी में शव को दफनाकर अंतिम संस्कार कराया गया। डीएम रवींद्र कुमार ने कहा कि यह घटना दुखद है। दिवंगत युवती  के स्वजन की मांगें पूरी की जाएंगी। मामले में जो दोषी होगा उस पर सख्त कार्रवाई होगी। मुकदमा फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाकर जल्द निर्णय लाने का भी प्रयास होगा। अन्य पुलिस कर्मियों की जांच एएसपी कर रहे हैं। किसी भी स्तर पर लापरवाही हुई होगी उस पर कार्रवाई होगी।  

उन्नाव से अन्य समाचार व लेख

» महिला से अश्लील बातें करते दारोगा का वीडियो वायरल, निलंबित

» उन्नाव में पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष के खिलाफ बिजली चोरी की रिपोर्ट दर्ज

» ज्वैलर्स की दुकान से लाखों के जेवर ले उड़े टप्पेबाज

» गैंगस्टर व भूमाफिया बीरबल गुजाराती की 4 करोड़ 27 लाख की संपत्ति कुर्क

» अवैध खनन रोकने गए वन दारोगा को रास्ते में बनाया बंधक