यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

उत्तर प्रदेश में एनडी तिवारी के निधन पर राजकीय शोक, राष्ट्रीय ध्वज झुकाये जाएंगे


🗒 गुरुवार, अक्टूबर 18 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

पूर्व मुख्यमंत्री नारायण दत्त तिवारी के निधन पर उप्र सरकार ने राजकीय शोक घोषित किया है। उनके अंत्येष्टि संस्कार के दिन प्रदेश में राष्ट्रीय ध्वज झुकाये जाएंगे। यदि उनका अंतिम संस्कार उत्तर प्रदेश में होता है तो पुलिस सम्मान के साथ अंत्येष्टि होगी। सामान्य प्रशासन विभाग ने गुरुवार को इस बारे में शासनादेश जारी कर दिया है। एनडी तिवारी के निधन पर उत्तर प्रदेश में शोक की लहर दौड़ गई है। राज्यपाल राम नाईक, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित, सपा अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय, प्रदेश महामंत्री संगठन सुनील बंसल, उप्र कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राजबब्बर समेत कई प्रमुख नेताओं ने शोक जताया है।

उत्तर प्रदेश में एनडी तिवारी के निधन पर राजकीय शोक, राष्ट्रीय ध्वज झुकाये जाएंगे

राज्यपाल राम नाईक ने अपने संदेश में कहा है कि एनडी तिवारी लोकप्रिय नेता रहे हैं और उनका व्यवहार सभी लोगों के साथ स्नेह पूर्ण था। आम आदमी के साथ उनका गहरा लगाव था। नाईक ने दिवंगत आत्मा की शांति की कामना करते हुए शोकाकुल परिवारीजन के प्रति हार्दिक संवेदना व्यक्त की है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एनडी तिवारी के निधन पर शोक प्रकट किया। मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि एनडी तिवारी के निधन से उप्र और देश की अपूरणीय क्षति हुई है। उत्तर प्रदेश एवं उत्तराखंड के विकास में उनके महत्वपूर्ण योगदान को हमेशा याद किया जाएगाभाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय और प्रदेश संगठन महामंत्री सुनील बंसल ने शोक प्रकट करते हुए ईश्वर से दिवंगत आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की। सपा अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने दुख प्रकट करते हुए कहा कि एनडी तिवारी ने स्वतंत्रता आंदोलन में सक्रिय रूप से भाग लिया था। आजादी के बाद स्वतंत्र भारत में उन्होंने सरकारों में रहकर विकास पुरुष की भूमिका निभाई। तिवारी के निधन पर सपा प्रदेश मुख्यालय में सपा का झंडा झुका दिया गया।कांग्रेस प्रदेश मुख्यालय में शोक सभा में नेताओं ने एनडी तिवारी के व्यक्तित्व और कृतित्व पर प्रकाश डालते हुए उन्हें अपनी श्रद्धांजलि दी। पूर्व मंत्री राम कृष्ण द्विवेदी, संपूर्णानंद, आरपी त्रिपाठी समेत कई नेताओं ने दुख प्रकट किया। कांग्रेस के पूर्व सांसद प्रमोद तिवारी ने भी शोक जताया। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. रमेश दीक्षित ने एनडी के निधन पर दुख प्रकट करते हुए कहा कि उनके निधन से भारतीय राजनीति में जो रिक्तता उत्पन्न हुई है, उसकी भरपाई हो पाना मुश्किल है। 

नारायण दत्त तिवारी के निधन की सूचना मिलते ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को उनके पुत्र से बात की। संवेदना जताते हुए उन्होंने कहा कि अपनी लोकप्रियता, संवेदनशीलता और कुशल प्रशासन के लिए तिवारीजी हमेशा याद किए जाएंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि नारायण दत्त तिवारी तीन बार उत्तर प्रदेश और एक बार उत्तराखंड के मुख्यमंत्री रहे। केंद्र सरकार में भी कई बार मंत्री रहे। इसके अलावा उन्होंने कई और महत्वपूर्ण जिम्मेदारियां संभाली। वह बिना किसी भेदभाव सबके विकास के हिमायती थे। मुख्यमंत्री ने ईश्वर से उनकी दिवंगत आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की। उन्होंने बताया कि स्व. तिवारी के परिवारीजनों से उनकी बात हुई है। आगे उन्हें लेकर जो भी कार्यक्रम आयोजित होंगे, प्रदेश सरकार उसमें भरपूर सहयोग करेगी।  

उत्तर प्रदेश से अन्य समाचार व लेख

» अनंतनाग में सुरक्षाबलों पर हुए आतंकी हमले में शहीद हुए UP को दो लाल

» शामली मे मालगाड़ी हादसे की रिपोर्टिंग करने गए पत्रकार को जीआरपी इंस्पेक्टर व सिपाहियों ने पीटा

» अब UP में गैर जमानतीय अपराध के मुकदमे में गिरफ्तारी पर अग्रिम जमानत व्यवस्था फिर से लागू

» मुलायम सिंह की हालत में सुधार, गुरुग्राम के अस्पताल में चल रहा इलाज

» पत्रकार प्रशांत कन्नौजिया की गिरफ्तारी पर सुप्रीम कोर्ट की UP सरकार को फटकार, रिहा करने का आदेश

 

नवीन समाचार व लेख

» डकैत जगन गुर्जर ने महिलाओं को निर्वस्त्र कर गांव में घुमाया

» मेट्रोमैन ई श्रीधरन ने स्वास्थ्य संबंधी कारणों का दिया हवाला LMRC से द‍िया इस्‍तीफा

» पश्चिमी उत्तर प्रदेश में हार की समीक्षा करने आए स‍िंध‍िया बोले, कार्यकर्ताओं के सुझाव से मजबूत करेंगे संगठन

» झांसी पुलिस चला रही खनन माफियाओं के खिलाफ अभियान

» पुलिस अधीक्षक महोबा ने किया कानून एवं व्यवस्था के मद्देनजर फ्लैग मार्च