यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

उत्तर प्रदेश बीएड संयुक्त प्रवेश परीक्षा मे भदोही के विनोद कुमार ने हासिल की पहली रैंक


🗒 बुधवार, मई 29 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

परीक्षा का फाइनल रिजल्ट रैंक के साथ वेबसाइट पर अपलोड कर दिया गया है। अभ्यर्थी upbed2019.in वेबसाइट पर जाकर रैंक व रिजल्ट देख सकते हैं। इस बार बीएड की संयुक्त प्रवेश परीक्षा में प्रयागराज के विनोद कुमार दुबे ने पहली रैंक हासिल की है। वहीं, वाराणसी के अरुण कुमार चौरसिया ने दूसरी व बरेली के सुनील कुमार ने तीसरी रैंक पाई है। टॉप टेन रैंक की सूची में प्रयागराज, वाराणसी, बरेली, गाजियाबाद व कानपुर के अभ्यर्थियों ने स्थान पाया है। बीएड परीक्षा में पहली रैंक हासिल करने वाले विनोद कुमार दुबे भदोही जिले के संतरविदास नगर में दशरथपुर गांव के रहने वाले हैं। स्नातक और परास्नातक (प्राचीन इतिहास) इलाहाबाद विश्वविद्यालय से प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण किया। वह प्रयागराज के गोविंदपुर मुहल्ले में रहकर सिविल परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं। विनोद ने बताया कि 2018 में सिविल मुख्य परीक्षा में दो-चार नंबर से चूक गए थे। इस बीच बीएड के आवेदन मांगे तो आवेदन फार्म भर दिया। उन्हें उत्तर प्रदेश बीएड संयुक्त प्रवेश परीक्षा में 400 में से 360 अंक मिले हैं। जबकि 340 से 350 के बीच का अनुमान लगाया था। बोले- कुछ मेहनत और कुछ बड़े बुजुर्गों व शिक्षकों का आर्शीवाद था जो यह संभव हो सका। उनके पिता सुरेंद्र नाथ दुबे भदोही जिले में ही एक इंटरमीडिएट कॉलेज में प्रधानाचार्य पद से रिटायर्ड हैं। वहीं, परिवार में तीन-चार अन्य लोग भी शिक्षक है। ऐसे में उनका रूझान भी टीचिंग की ओर हो गया। 15 अप्रैल को हुई बीएड प्रवेश परीक्षा में प्रदेश भर के 6,09,209 अभ्यर्थी पंजीकृत थे। इसमें से 5,66,400 ने परीक्षा दी थी। गत 21 मई को विवि प्रशासन ने आंसर-की के साथ अंकों के आधार पर रिजल्ट जारी किया था। मगर रैंक तैयार नहीं हुई थी। दूसरा, छात्रों से रिजल्ट पर आपत्तियां भी मांगी गई थीं कि किसी को कोई शिकायत हो तो वे ऑनलाइन शिकायत दर्ज करा सकते हैं। 23 मई तक आईं शिकायतों का निस्तारण कर लिया गया है। इनके निस्तारण के बाद मंगलवार देर रात तक रैंक के साथ फाइनल रिजल्ट जारी करने की कवायद चलती रही। बीएड की प्रवेश परीक्षा में इस बार रिकॉर्ड 6,09,209 अभ्यर्थी पंजीकृत हुए थे इसमें 5,66,400 ने परीक्षा दी थी। पिछले कई सालों में बीएड की परीक्षा में अभ्यर्थियों की यह संख्या रिकॉर्ड है। प्रदेश में बीएड की सीटें सवा दो लाख के आस-पास हैं। इस स्थिति में इस बार प्रवेश को लेकर मारामारी रहेगी। प्रोफेसरों का मानना है कि जिन अभ्यर्थी की रैंक अच्छी होगी, उनके ही प्रवेश की गारंटी रहेगी। टॉप रैंक वाले अभ्यर्थियों को राजकीय और एडेड कॉलेजों में प्रवेश का मौका मिलेगा। इसलिए अभ्यर्थियों की निगाहें रैंकिंग पर टिकी हैं।  राज्य बीएड प्रवेश परीक्षा समन्वयक प्रो. बीआर कुकरेती ने बताया कि बीएड का फाइनल रिजल्ट अभ्यर्थी वेबसाइट पर देख सकते हैं। जून में काउंसलिंग शुरू कराने की तैयारी है। 

उत्तर प्रदेश बीएड संयुक्त प्रवेश परीक्षा मे भदोही के विनोद कुमार ने हासिल की पहली रैंक

उत्तर प्रदेश से अन्य समाचार व लेख

» आखिरकार प्रदेश में हाईटेक व हाई सिक्योरिटी जेल बनाने का रास्ता साफ

» प्रदेशभर में कांग्रेसियों का प्याज की बढ़ती कीमत और किसानों की समस्या को लेकर प्रदर्शन

» भदोही जनपद में हुए 20 लाख के कैश वैनकांड के 4.80 लाख रुपये सहित हथियार बरामद

» जिला शामली में सिलेंडर फटने से दुकान में लगी आग, बुझाने में दो झुलसे

» CM योगी आदित्‍यनाथ ने किया श्रावस्‍ती का दौरा, कलेक्ट्रेट सभागार में हुई विकास योजनाओं की समीक्षा बैठक