यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

आपत्तिजनक पोस्ट से निपटने को वॉररूम तैयार, 21 संवेदनशील जिलों में अतिरिक्त सतर्कता


🗒 शुक्रवार, नवंबर 08 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

राम मंदिर मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने से पहले सोशल मीडिया पर बढ़ी सरगर्मियों पर नजर रखने के लिए यूपी पुलिस का 'वॉररूम' तैयार हो गया है। भड़काऊ व आपत्तिजनक वायरल पोस्टों पर कार्रवाई के लिए पुलिस ने कमर कस ली है। डीजीपी मुख्यालय स्तर से सभी जिलों में गठित सोशल मीडिया सेल के अधिकारियों को एडवाइजरी जारी की गई है। वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये शुक्रवार को सभी कार्रवाई के कड़े निर्देश भी दिये गए।डीजीपी मुख्यालय ने बरेली, अलीगढ़, संभल, अमरोहा, आजमगढ़, हापुड़, मेरठ, मुरादाबाद, मुजफ्फरनगर, गोंडा, अंबेडकरनगर, बलरामपुर, बस्ती, बहराइच, मऊ, गाजीपुर समेत 21 जिलों को संवेदनशील घोषित किया गया है और यहां अतिरिक्त सतर्कता बरतने के निर्देश दिए गए हैं। यूपी 112 मुख्यालय में वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये एडीजी कानून-व्यवस्थ पीवी रामाशास्त्री व आइजी कानून-व्यवस्था प्रवीण कुमार त्रिपाठी ने सभी जोनल/परिक्षेत्रीय व जिलों की सोशल मीडिया सेल में नियुक्त राजपत्रित अधिकारियों व प्रभारियों से सीधे संवाद किया। आने वाले दिनों की चुनौतियों को लेकर उन्हें पूरी सतर्कता बरतने के निर्देश दिए गए।आपत्तिजनक व भ्रामक पोस्टों, संदेशों व वीडियो के जरिये सांप्रदायिक सद्भाव भंग करने का प्रयास करने वालों के खिलाफ तत्काल कानूनी कार्रवाई करने व उनके सोशल मीडिया अकाउंट ब्लॉक कराये जाने के निर्देश दिए गए। इसके अलावा सभी को सोशल मीडिया पर की गई आपत्तिजनक पोस्ट को सुरक्षित रखने की प्रकिया की जानकारी भी दी गई। जिससे पोस्ट को डिलीट करने की स्थिति में भी साक्ष्य जुटाये जा सकें।कहा गया कि बीते पांच सालों में सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट करने के मामलों में जिन लोगों के खिलाफ कार्रवाई की गई है, उन पर कड़ी नजर रखी जाए। थानावार ऐसे लोगों की सूची बनाकर उनके नाम-पते व अन्य जानकारियां रजिस्टर में दर्ज करने के निर्देश भी दिये गये। बताया गया कि ऐसे करीब 4500 लोग पुलिस के रडार पर हैं।आइजी कानून-व्यवस्था ने बताया कि सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेटफार्म पर आपत्तिजनक पोस्ट अथवा वीडियो वायरल करने वालों के खिलाफ डीजीपी मुख्यालय स्तर से वाट्सएप नंबर 8874327341 पर शिकायत की जा सकती है। कोई भी इस नंबर पर टेक्स्ट मैसेज, वाइस क्लिप, वीडियो, स्क्रीनशॉट के जरिये अपनी शिकायत दर्ज करा सकता है। सूचना देने वाले व्यक्ति की पहचान गोपनीय रखी जाएगी।

आपत्तिजनक पोस्ट से निपटने को वॉररूम तैयार, 21 संवेदनशील जिलों में अतिरिक्त सतर्कता

उत्तर प्रदेश से अन्य समाचार व लेख

» UP के सभी स्कूल-कॉलेज 11 नवंबर तक बंद

» अयोध्या केस को लेकर फैसले से पहले इंटेलिजेंस अलर्ट, अफवाह फैलाने वालों पर रखी जा रही नजर

» अयोध्या केस को लेकर SC के फैसले को लेकर केंद्र से जिला स्तर तक तैयारियां हुईं तेज

» उत्‍तर प्रदेश में नए मोटर व्हीकल एक्ट पर और सख्त हुई सरकार तीन बार कटा चालान तो वाहन होगा सीज

» राम जन्मभूमि विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले की घड़ी नजदीक, अयोध्या समेत पूरे प्रदेश में बढ़ी सतर्कता

 

नवीन समाचार व लेख

» लखनऊ में चप्पे-चप्पे पर कड़ी सुरक्षा, मुश्किल में डालेगा सोशल मीडिया पर किया कमेंट

» अयोध्या मसले पर FB पर टिप्पणी करने के वालेे मंडल उपाध्यक्ष को जेल

» बाराबंकी में जज से मारपीट और अभद्रता, 50 वकीलों पर मुकदमा दर्ज

» राजधानी के सरकारी अस्पतालों में हाई अलर्ट, डॉक्टरों की छुट्टी रद

» प्रमुख सचिव ऊर्जा आलोक कुमार भी हटाये गए, 5 IAS और 1 PCS अफसर का तबादला