यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

मृत घोषित होते ही कब्र खोदने की थी तैयारी, दो घंटे बाद जिंदा हुआ युवक


🗒 शुक्रवार, अप्रैल 16 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
मृत घोषित होते ही कब्र खोदने की थी तैयारी, दो घंटे बाद जिंदा हुआ युवक

शामली,। युवक को मृत घोषित करने के बाद परिवार में कोहराम मचा था। कब्र खोदने की तैयारी थी, लेकिन तभी उसके जिंदा होने की खबर आई तो गम का माहौल खुशी में बदल गया।गढ़ीपुख्ता क्षेत्र के ओदरी गांव निवासी 33 वर्षीय तहसीन हरियाणा के करनाल में फैक्ट्री में काम करता है। दो साल से वहीं पर रहता है। बीमार चल रहा तहसीन कई दिन से करनाल के निजी अस्पताल में भर्ती था। गुरुवार शाम चार बजे चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। गांव में रहने वाले परिवार वालों को सूचना मिली तो वे करनाल पहुंच गए।वहां से उसे मृत मानकर ला रहे थे। रास्ते में उसके शरीर में हलचल हुई और सांस चलने लगी। स्वजन वापस चिकित्सक के पास पहुंचे और उपचार शुरू कराया। तहसीन के भतीजे नौशाद ने बताया कि हम तो कब्र खोदने की तैयारी कर रहे थे। सभी का रो-रोकर बुरा हाल था। दो घंटे के बाद पुन: जिंदा होने की खबर मिली तो परिवार वालों की आंखों में चमक आ गई।चिकित्सक डा. पंकज गर्ग का कहना है, हो सकता है किसी अयोग्य चिकित्सक ने उसे मृत घोषित किया हो। कई बार शुगर का स्तर बहुत कम होने या ब्रेन हेमरेज की स्थिति में ऐसा लगता है कि व्यक्ति की मौत हो गई जबकि वह जीवित होता है। मेडिकल साइंस में मौत के बाद किसी का जिंदा होना संभव नहीं है।

उत्तर प्रदेश से अन्य समाचार व लेख

» स्वयंसेवक अनूप उपाध्याय के नेतृत्व में वृक्षारोपण

» सरकारी स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों ने पर्यावरण को स्वच्छ रखने का लिया संकल्प

» शामली में झगड़ा करने में महिलाओं समेत 13 गिरफ्तार

» शामली में युवती की अश्लील वीडियो बनाकर की वायरल, ब्लैकमेल कर वसूले रुपये, तीन गिरफ्तार

» शामली में चुनावी रंजिश में दो पक्षों के बीच जमकर संघर्ष, पुलिस पर पथराव, सात गिरफ्तार