यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

निघासन पुलिस का एक और नया कारनामा, तीन पत्रकारों पर पुलिस ने दर्ज की फर्जी fir


🗒 शनिवार, मई 29 2021
🖋 शिवम कश्यप, जिला संवाददाता लखीमपुर खीरी
निघासन पुलिस का एक और  नया कारनामा, तीन पत्रकारों पर पुलिस ने दर्ज की फर्जी fir

निघासन (खीरी )

 कोतवाली निघासन में तीन  पत्रकारों पर अवैध तरीके से एफ आई आर दर्ज की गई।पत्रकार सद्दाम,कमाल और संदीप शाक्य निवासी कोतवाली निघासन क्षेत्र के रहने वाले हैं उक्त पत्रकारों को अवैध खनन की विश्वसनीय सूचना प्राप्त हुई तो उक्त खनन की सूचना निघासन कोतवाल डीके सिंह को मोबाइल पर कमाल अहमद के द्वारा देने की कोशिश  परंतु चार बार फोन करने पर भी फोन नहीं उठाया गया पांचवी बार मैं फोन उठाया गया तो कोतवाल डीके सिंह ने कहा कि हम इस समय आईजी साहब के दौरे पर उनके साथ में हैं बाद में बात करेंगे. तब पत्रकारों द्वारा 17/05/2021 को अवैध मिट्टी खनन की खबर लेने के लिए  पांच लोग मौके पर खनन स्थल पर पहुंचे वहां पर खनन माफिया बबलू पुत्र अमीरुद्दीन जो के निघासन क्षेत्र में मिट्टी खनन का कार्य करता है और प्रतिदिन 10 से 20 ट्राली मिट्टी की सप्लाई निघासन कस्बा और उसके आसपास के गांवों में करता है खनन स्थल पर 15 ट्रैक्टर -ट्रालीओं के साथ मौके पर खनन करवा रहा था जिसका वीडियो एक पत्रकार मौके पर बनाने लगा तो खनन माफिया बबलू ने उक्त पत्रकार का मोबाइल छीन लिया तथा माइक आईडी तोड़ दिया. अपने अन्य साथियों को बुलाकर डंडे से पिटाई कर दी और भी पत्रकार वीडियो बनाने की कोशिश की तो उनका भी मोबाइल छीन लिया सभी मारपीट करने लगा और एक ट्रैक्टर ड्राइवर को बुलाकर तीनों पत्रकारों पर ट्रैक्टर चढ़ाने को कहा. मारपीट होता देखकर मौके ग्रामीण आ गए तो पत्रकार मौके का फायदा उठाकर वहां से भाग निकले उपरोक्त मारपीट में बबलू के साथी का डंडा बबलू के सर पर भी लग गया जिससे उसका सिर जख्मी हो गया उपरोक्त घटना की जानकारी निघासन कोतवाल डीके सिंह को शाम को लगभग 5:00 बजे अवगत करा दी गई कोतवाली प्रभारी द्वारा खनन माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई करने का आश्वासन भी दिया गया परंतु 27.5.21 को हमें जानकारी प्राप्त हुई की हम तीनों पत्रकारों पर पुलिस द्वारा एफ आई आर दर्ज कर दी गई है जबकि हमारे द्वारा खनन स्थल और मारपीट का वीडियो भी कोतवाल डीके सिंह को दिखाया गया था एफ आई आर दर्ज करने के बाद हम लोगों को पूछताछ के लिए भी नहीं बुलाया गया न ही हम से मारपीट की सत्यता की जानकारी ली गई।

लखीमपुर खीरी से अन्य समाचार व लेख

» लखीमपुर में निरीक्षण करने गए बिजली विभाग के एसडीओ पर फायर

» लखीमपुर में जामुन बीनने गए बच्चों को पेड़ से बांधकर पीटा, वीडियो वायरल

» युवक की डूबने से मौत,संजीव कुमार मुन्ना ने किया रोड जाम

» ट्राली पलटने से एक दर्जन से ज्यादा लोग हुए घायल

» लखीमपुर में पत्‍नी के प्रेमी से पत‍ि के व‍िवाद में चली गोली

 

नवीन समाचार व लेख

» इलाहाबाद हाई कोर्ट में 28 जून से आड-इवन फार्मूला से सूचीबद्ध होंगे मुकदमे

» यूपी के 56 जिलों में कोरोना के 50 से कम संक्रमित, 222 नए केस मिले

» अंबेडकरनगर में युवकों के बीच मारपीट के बाद दो गांवों में साम्प्रदायिक बवाल, छह से अधिक घायल

» ट्विटर और सरकार के बीच चल रही तनातनी के बीच ट्विटर के अंतरिम शिकायत अधिकारी ने दिया इस्तीफा

» फतेहपुर में अवैध मतांतरण के मामले में विजय सोनकर गिरफ्तार