यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

चेकिंग के दौरान कार से 48 किलो गांजे के साथ दो तस्करों गिरफ्तार


🗒 रविवार, फरवरी 20 2022
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
चेकिंग के दौरान कार से 48 किलो गांजे के साथ दो तस्करों  गिरफ्तार

शामली, । कैराना क्षेत्र में पुलिस ने यमुना ब्रिज पर चेकिंग के दौरान एक कार से 48 किलो गांजे के साथ दो तस्करों को गिरफ्तार किया है, जो आंध्र प्रदेश से गांजा ला रहे थे।रविवार को यमुना ब्रिज पर पुलिस चेकिंग कर रही थी। इसी दौरान एक सूचना के आधार पर पुलिस ने एक सेंट्रो कार को चेकिंग के लिए रोका। तलाशी लेने पर कार से 48 किलो गांजा मिला। इसके बाद पुलिस ने कार सवार दो तस्करों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने आरोपितों के नाम सतवीर व शकील निवासीगण गांव टांडा थाना छपरौली जिला बागपत बताया। पुलिस के मुताबिक आरोपित आंध्रप्रदेश से गांजा तस्करी कर ला रहे थे। जिसे आसपास के जिलों में बेचा जाना था। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर आरोपितों के मोबाइल व एक पेंचकस कब्जे में ले लिया।जिले में भांग के ठेकों की आड़ में अवैध नशे का कारोबार जोरों पर चल रहा है। भांग की आड़ में सुल्फा-चरस और गांजे का धंधा हो रहा है। बड़ी संख्या में युवाओं को इसकी लत लग गई है। बीच-बीच में हल्की-फुल्की कार्रवाई करके पुलिस भी अपना बचाव करती है। सबकी मिलीभगत से यह कार्य चल रहा है। शामली, कैराना, कांधला, बनत, थानाभवन और झिझाना में सबसे ज्यादा कार्य चल रहा है। इस ओर अधिकारियों का कोई ध्यान नहीं है। खासकर स्कूल-कालेजों में पढ़ने वाले बच्चों को ऐसे नशे की लत लग चुकी है। क्षेत्र में भांग के ठेकों के आसपास ही कुर्सी आदि पर सुल्फा आदि बेचने वाला सेल्समैन बैठा रहता है और खरीदारों को सुल्फा मुहिया कराता है। झिझाना से बिडौली तक कई ऐसे ढाबे हैं, जहां स्मैक, अफीम और चरस की चोरी-छिपे बिक्री की जाती है।उधर जिला आबकारी अधिकारी कुंवरपाल सिंह का कहना है कि हम समय-समय पर भांग की दुकानें चेक कराते हैं, पिछले दिनों लालङ्क्षसह मार्केट से एक युवक को नशीला पदार्थ बेचने के आरोप में जेल भी भेजा था, यदि अब भी नशीले पदार्थों की बिक्री हो रही है तो कार्रवाई की जाएगी।