यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

वाराणसी में मड़ई में सो रहा बच्‍चा आग में जला, मौत


🗒 शुक्रवार, मई 27 2022
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
वाराणसी में मड़ई में सो रहा बच्‍चा आग में जला, मौत

वाराणसी : मड़ई में लगी आग में पांच साल का मासूम घिर गया। उसकी मां बचाने के लिए गुहार लगाती रही लेकिन आग इतनी भीषण थी कि कोई बचा नहीं सका। बेबस मां बच्चे को मौत के मुंह में जाते हुए देखती रही। घटना शुक्रवार को चोलापुर के रजला में हुई।मजदूरी करने वाला राजेन्द्र अपनी पत्नी सरोज देवी व चार बेटों के साथ गांव में मड़ई बनाकर रहता है। दिन में काम करने गांव से थोड़ी दूर गया था। पत्नी दो बच्चों नौ साल के प्रिंस और पांच साल के राजन को मड़ई में चौकी पर सुलाकर समूह का रुपये जमा करने गई थी। दोपहर में चूल्हे की चिंगारी से मड़ई में आग लग गई। ताप से प्रिंस की नींद खुल गई, वह राजन को जगाए बिना मां को बुलाने के लिए भागा। गांव में ही मौजूद सरोज कुछ लोगों के साथ भागते हुए पहुंची तब तक मड़ई में लगी आग विकराल रूप ले चुकी थी।ग्रामीणों ने हैंडपम्प के सहारे आग बुझाने की कोशिश की लेकिन नाकाम रहे। लपटों में घिरा मासूम जान बचाने की गुहार लगाता रहा। भीषण आग से घिरी मड़ई में दाखिल होने की हिम्मत कोई जुटा नहीं सका। तभी जलती मड़ई मासूम के ऊपर आ गई और उसकी मौत हो गई। यह देखकर सरोज बेसुध होकर गिर पड़ी। आग की सूचना पाकर राजेन्द्र भी आ गया था। वह भी खुद को संभाल नहीं पा रहा था। आग से पास ही मौजूद एक और मड़ई जल गई।