यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

आपत्तिजनक पोस्टर लगवाने पर दो गिरफ्तार


🗒 शुक्रवार, जून 10 2022
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
आपत्तिजनक पोस्टर लगवाने पर दो गिरफ्तार

वाराणसी, । बाजार बंदी के संदेश को इंटरनेट मीडिया पर फैलाने वाले कौन हैं पुलिस उनकी तलाश कर रही है। इस बारे में कुछ इनपुट मिला है। आशंका है कि इसके पीछे वही लोग हो सकते हैं जो कुछ दिनों पहले छित्तनपुरा में आपत्तिजनक पोस्टर लगवा रहे थे। इस मामले में दो युवकों को गिरफ्तार किया गया है और दो कि तलाश है। पोस्टर में नूपुर शर्मा के खिलाफ आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल किया गया था।बजारों में बंदी, शहर के संवेदनशील क्षेत्रों में पुलिस के फ्लैग मार्च और ड्रोन निगरानी के बीच जुमे की नमाज शुक्रवार को शांतिपूर्ण हुई। इस दौरान अफवाहों का बाजार भी गर्म रहा। देश में नमाजियों के बीच जगह-जगह हो रहे विरोध प्रदर्शन पर चर्चा होती रही। इसके चलते शहर का माहौल तनावपूर्ण जरूर रहा लेकिन पुलिस की सतर्कता और सख्ती से नियंत्रण में रहा। नूपुर शर्मा के बयान के विरोध में मुस्लिम बाहुल्य कई इलाकों की बंद दुकानें पूरे दिन नहीं खुलीं।जुमे की नमाज को लेकर पुलिस अलर्ट मोड में थी। संवेदनशील क्षेत्रों में गश्त और निगरानी एक दिन पहले से ही की जा रही थी। वहीं नूपुर शर्मा के बयान के विरोध में बाजार बंदी का संदेश इंटरनेट मीडिया पर पिछले दो दिनों से चल रहा था। इसे लेकर खास सतर्कता बरती जा रही थी। कई मुस्लिम संगठनों ने बाजार बंद के संदेश को गलत बताते हुए व्यापारियों को दुकान खोलने और शांति बनाए रखने की अपील की थी। इसका कोई खास असर नहीं दिखा। शुक्रवार की सुबह से ही मुस्लिम बाहुल्य इलाकों में सरगर्मी शुरू हो गई।दुकानें खुलेंगी या नहीं इसे लेकर ऊहापोह की स्थित रही। कोई जबरन दुकान ना बंद करा सके इसलिए बाजारों में पुलिस की तैनाती की गई थी। मुस्लिम संगठनों और पुलिस की कोशिश सफल नहीं हुई और दालमंडी, नई सड़क, हड़हासराय, मदनपुरा, बजरडीहा, पीलीकोठी, छोरा, इलाके की दुकानें बंद रहीं। ज्ञानवापी समेत शहर की सभी मस्जिदों में जुमे की नमाज शांतिपूर्ण संपन्न हुई। इसके बाद पुलिस ने कई बाजारों में बंद दुकानों को खुलवाने का प्रयास किया। मदनपुरा, बजरडीहा में कई दुकानें खुली लेकिन दालमंडी, नई सड़क, पीलीकोठी, छोरा, हड़हासराय की हजारों दुकानें बंद ही रहीं। दुकानों को खुलवाने के लिए पुलिस लगातार कोशिश करती रही।शहर में पुलिस की मुस्तैदी का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि जिले के आला अधिकारी भी संवदेनशील इलाकों में गश्त करते रहे। पुलिस कमिश्नर ए सतीश गणेश ने बजरडीहा में भारी पुलिस बल के साथ गश्त किया। एडिशनल पुलिस कमिश्नर सुभाष चंद्र दुबे ने ज्ञानवापी से लगायत दालमंडी, हड़हासराय इलाके में गश्त किया। डीसीपी काशी जोन आरएस गौतम ज्ञानवापी में मौजूद रहे। एडीसीपी राजेश पांडेय नई सड़क पर मुस्तैद रहे।

वाराणसी से अन्य समाचार व लेख

» बलिया खाद्यान्न घोटाले में तीन आरोपित गिरफ्तार

» वधु पक्ष को ढाई लाख रुपये हर्जाना

» सिविल जज को धमकी भरे पत्र के पहले आई थी इंटरनेट काल

» कश्मीरी शिक्षिका के हत्यारों को सजा देने की मांग

» केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने खत्म की 'चिंतादेवी' की चिंता, पास करवाया डाक विभाग में फंसा एफडी का पैसा