श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर के सुगम दर्शन पैकेज में जल्द ही में जुड़ेगा आभासी संग्रहालय

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर के सुगम दर्शन पैकेज में जल्द ही में जुड़ेगा आभासी संग्रहालय


🗒 शुक्रवार, अगस्त 09 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

काशी विश्वनाथ मंदिर के सुगम दर्शन पैकेज में जल्द ही मान महल आभासी संग्रहालय (वर्चुअल म्यूजियम) और गंगा आरती भी जुड़ जाएगी। इसके लिए मंदिर के हेल्प डेस्क से या ऑनलाइन टिकट बुकिंग होगी। मंदिर की ओर से ही दर्शन व भ्रमण की व्यवस्था कराई जाएगी। सावन की भीड़ और व्यस्तता खत्म होने के साथ ही इसे शुरू कर दिया जाएगा। माना जा रहा है कि इससे बाबा के सुगम दर्शन के क्रेज के साथ ही मान महल आभासी संग्रहालय के प्रति भी लोगों का आकर्षण बढ़ेगा। मंदिर की ओर से सुगम दर्शन पिछले साल शुरू किया गया था।इसमें 300 रुपये में बिना कतार शास्त्री द्वारा बाबा का दर्शन कराने व मेवा लड्डू के प्रसाद की व्यवस्था है। ऐतिहासिक व पुरातात्विक मान महल में राष्ट्रीय विज्ञान संग्रहालय परिषद द्वारा बनाए गए आभासी संग्रहालय का इसी साल मार्च में पीएम मोदी ने उद्घाटन किया था। पिछले माह बनारस दौरे में प्रधानमंत्री उसे देखने भी गए और लगभग सवा घंटे तक बनारस के हर रंग को महसूस किया था। उसके दूसरे ही दिन एक ही दिन में 700 लोग इस संग्रहालय को देखने पहुंचे थे जबकि पांच माह में सिर्फ 500 लोग आए थे। ऐसे में इसे पैकेज में शामिल किए जाने को प्रचार-प्रसार की रणनीति माना जा रहा है ताकि एक ही छत के नीचे प्रोजेक्टर, वीडियो क्लिप व चित्रों के जरिए सहेजे गए बनारस के हर रंग को लोग महसूस सकें।मंदिर न्यास परिषद की ओर से फिलहाल तीन पैकेज चलाए जा रहे हैं। इसमें सुगम दर्शन के साथ वाहन से एक ही दिन में पंचकोसी यात्रा खास तौर पर सावन के लिए शुरू की गई। इसके अलावा गंगा दर्शनम् अतिथि गृह के साथ सुगम दर्शन व कारिडोर भ्रमण और सुगम दर्शन, कारिडोर भ्रमण संग क्रूज से घाट दर्शन पैकेज पहले से संचालित हैं। मंदिर के सीईओ विशाल सिंह के अनुसार पैकेज के जरिए पर्यटकों को सुविधाएं उपलब्ध कराने का प्रयास है। इसमें विशिष्टताओं को समाहित कर प्रचार -प्रसार का भी उद्देश्य सफल होगा।

श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर के सुगम दर्शन पैकेज में जल्द ही में जुड़ेगा आभासी संग्रहालय

वाराणसी से अन्य समाचार व लेख

» महाशिवरात्रि पर पंचकोशी यात्रियों शिवभक्तों की डगर होगी मुश्किलों भरी

» पत्रकारों को देते है कोतवाली इस्पेक्टर पत्रकारिता अंदर डालने की धमकी

» वाराणसी -पत्रकारों को देते है कोतवाली इस्पेक्टर पत्रकारिता अंदर डालने की धमकी

» सरकार ने कहा कि उत्तर प्रदेश को 1 ट्रिलियन डॉलर की इकोनामी बनाया

» भारतीय संस्कृति की रक्षा शास्त्रार्थ के माध्यम से ही सम्भव है-कुलपति प्रो0 राजाराम शुक्ल

 

नवीन समाचार व लेख

» बांदा -7 साल बाद फरार हत्यारे को पुलिस ने सलाखों के पीछे भेजा

» बांदा - आग का गोला फुल से कूदी खाई में जनहानि नहीं

» बांदा -गौ सेवा करने वाला मनुष्य मुझको प्राप्त करता है श्रीमद् भागवत कथा

» बांदा -मेडिकल कॉलेज से आयुष्मान कार्ड होने के बाद भी बिना इलाज वापस किया

» महोबा- इलाज के लिए आए मरीजों से अभद्रता पर किसान यूनियन में आक्रोश