यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

वाराणसी केलंका थाना क्षेत्र मे विवाहिता की घर में सिर कूचकर हत्या


🗒 सोमवार, अगस्त 12 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

लंका थाना क्षेत्र के नरोत्तमपुर में सोमवार को शिक्षिका निवेदिता (32 वर्ष) की घर में घुसकर नृशंस हत्या कर दी गई। मौका -ए-वारदात के हालात बयां कर रहे थे कि वह हत्यारे से काफी जूझी, लेकिन अपनी जान नहीं बचा सकी। हत्यारे ने निवेदिता के सिर, पीठ, गले व हाथ समेत शरीर के अन्य हिस्सों पर लोहे की किसी वजनी वस्तु से ताबड़तोड़ प्रहार किया।शिक्षिका के पिता की तहरीर पर लंका पुलिस ने पति, सास-श्वसुर समेत आठ के खिलाफ हत्या समेत अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया है। एसएसपी ने घटनास्थल का निरीक्षण करने के बाद परिजनों की गुहार पर रात में पोस्टमार्टम कराकर शव परिजनों को सौंपने के निर्देश दिए।दोपहर में लगभग दो बजे ट्यूशन पढऩे वाले बच्चे निवेदिता के घर पहुंचे। दरवाजा अंदर से बंद था। बहुत देर खटखटाने पर भी दरवाजा नहीं खुला तो पड़ोस के लोग जुट गए। नगवां में रहने वाले निवेदिता के पिता सुबोध सिंह को फोन करके सूचना दी गई। बेटी के साथ किसी अनहोनी की आशंका पर पिता तुरंत पहुंचे व पुलिस को जानकारी दी। मौके पर पहुंची लंका पुलिस दरवाजा तोड़कर जैसे ही अंदर घुसी, वहां का दृश्य देखकर पिता व बच्चों की चीख निकल गई। निवेदिता की रक्तरंजित लाश बिस्तर पर औंधे मुंह पड़ी थी। घटनास्थल पर बिखरे सामान इस बात की गवाही दे रहे थे कि निवेदिता मरते दम तक बदमाश से जूझती रही। धारदार हथियार से सिर, गर्दन, हाथ व पैर में चोट के निशान थे। तकिया खून से पूरा सना था, कमरे में जगह-जगह नोंचे गए बाल पड़े थे। कमरे में खून से लथपथ पैर के निशान गवाही दे रहे थे कि निवेदिता ने हत्यारे से काफी संघर्ष किया था। दीवारों पर खून के छींटे बता रहे थे कि निवेदिता के बाल पकड़कर उसे दीवार से जोरदार टक्कर मारी गई थी। कमरे में पैडस्टल फैन भी टूटा पड़ा था। निवेदिता पर हत्यारे ने पैडस्टल फैन से भी प्रहार किया था। कमरे में सामान बिखरा था। आशंका है कि सिर में गंभीर चोट के चलते निवेदिता की मौत हो गई। हत्यारे ने निवेदिता की हत्या के दौरान कमरे में मौजूद म्यूजिक सिस्टम भी तेज आवाज में बजा रखा था, ताकि आवाज बाहर न जाए। पुलिस को शक है कि हत्यारा घर की बनावट से परिचित था। वह छत के रास्ते घर में दाखिल हुआ और वारदात को अंजाम देने के बाद छत के रास्ते ही फरार हो गया। पुलिस को मौके से निवेदिता का मोबाइल फोन मिला। चेक करने पर पता चला कि कॉल डिटेल किसी ने डिलीट कर दी थी। साइबर सेल को मोबाइल दिया गया है ताकि पता चल सके कि वारदात से पहले निवेदिता की किससे बात हुई थी।

वाराणसी केलंका थाना क्षेत्र मे विवाहिता की घर में सिर कूचकर हत्या

मौके पर पहुंची फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट टीम ने कमरे, छत की कुंडी समेत अन्य स्थानों से निशान उठाए। जासूस श्वान घटनास्थल से कुछ दूर बस्ती तक गया, लेकिन फिर दिशा भटकने के बाद वापस आ गया। 
दस साल पहले हुई थी शादी लंका थाना क्षेत्र के नगवां निवासी सुबोध ठाकुर ने बेटी निवेदिता की शादी नरोत्तमपुर के शैलेंद्र सिंह के साथ 10 वर्ष पूर्व की थी। दो साल पहले घरेलू विवाद के बाद शैलेंद्र अपनी पत्नी के गहने लेकर गायब हो गया। निवेदिता ने पति की गुमशुदगी दर्ज कराई। पता चला कि पति का किसी से अवैध संबंध है और वह उसके साथ भिलाई में रह रहा है तो निवेदिता ने वर्ष 2017 में लंका थाने में घरेलू हिंसा का मुकदमा दर्ज कराया। पति से अलग होने के बाद श्वसुर कल्लू सिंह के नरोत्तमपुर स्थित आवास में निवेदिता अपनी दिव्यांग बेटी खुशी संग रहने लगी। निवेदिता क्षेत्र के एक निजी स्कूल में पढ़ाने लगी तो बेटी को नाना-नानी के पास छोड़ दिया। स्कूल से आकर निवेदिता बच्चों को पढ़ाती, फिर उसके बाद खुशी से मिलने जाती थी।आठ साल की दिव्यांग बच्ची को देखकर उसके नाना सुबोध बार-बार यह कह कर गिर जा रहे थे कि अब यह कैसे जिंदा रहेगी। निवेदिता से सुबह आठ बजे बात हुई थी। स्कूल बंद होने के कारण उसने आराम करने की बात कहते हुए दोपहर बाद घर आने की बात कही। थी। अब निवेदिता तो रही नहीं, मैं कितने दिन का मेहमान हूं, हम नहीं रहे तो इसका क्या होगा। नानी बार-बार यही कह रही थी कि दुकान बंद कर तीन बार खुशी को खिलाने पिलाने और शौच कराने घर आते थे। मां की मौत के अंतिम समय खुशी नाना-नानी के साथ रही और सूचना पर पहुंचे परिजनों संग लगातार चीख रही थी। निवेदिता की हत्या की सूचना पर नगवां से सपा नेता सोनू सोनकर, रमना प्रधानपति अमित पटेल व नरोत्तमपुर के प्रधानपति भानू सिंह सहित 50 से ज्यादा महिला-पुरुष पहुंचे थे। निवेदिता की हत्या के बाद मौके पर पहुंचे परिजनों ने बताया कि दो साल पहले से संसदीय कार्यालय से लेकर क्षेत्रीय विधायक, पुलिस अधिकारियों तक इस बात की जानकारी दी गई थी लेकिन किसी ने संज्ञान नहीं लिया। पिता ने बताया कि पति ने तलाक के लिए अपील की थी जिसे कोर्ट ने खारिज कर खर्च देने का आदेश दिया था। उसने हाईकोर्ट में मीडिएशन किया जो कैंसिल हो गया था, इसके बाद उसने निवेदिता को मारने की धमकी दी थी।

वाराणसी से अन्य समाचार व लेख

» नो0 एंट्री में घुसी ट्रक, ली स्कूटी सवार बृद्ध की जान

» डाक्टर बना हैवान,तीन तीन मासूम बच्चे को गर्भ में ही माँ समेत उतारा मौत के घाट

» गन्दगी पर भड़के नगर विकास मंत्री, नगर आयुक्त प्रतिदिन सड़क पर उतरकर ले सफाई का जायजा- सुरेश खन्ना

» वाराणसी मे नगर विकास मंत्री सुरेश खन्‍ना के आने से पहले विधायक के सामने ही भिड़ गए कार्यकर्ता

» सावन के अंतिम सोमवार एवं बकरीद को देखते हुए, डीएम ने किया विभिन्न स्थलों का दौरा

 

नवीन समाचार व लेख

» उन्नाव मे बूढ़ी मां को तब तक बेरहमी से पीटता रहा जब तक नहीं हो गई मौत

» उन्नाव मे गंगा स्नान कर रहे दो युवक और किशोर की डूबकर मौत, तीन साथियों को ग्रामीणों ने बचाया

» आजमगढ़ में तीन तलाक का आरोपी पति गिरफ्तार

» जिला जौनपुर में बहू को अश्लील गाना सुनाने पर ससुर गया जेल

» वाराणसी केलंका थाना क्षेत्र मे विवाहिता की घर में सिर कूचकर हत्या