अब वाराणसी में भी कोर्ट के फैसले से रैदासियों में रोष, यथास्थिति की उठी मांग

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

अब वाराणसी में भी कोर्ट के फैसले से रैदासियों में रोष, यथास्थिति की उठी मांग


🗒 मंगलवार, अगस्त 13 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

रैदासी समुदाय की ओर से नर्इ दिल्‍ली से उठी विरोध की आंच का वाराणसी में भी असर होने लगा है। दरअसल नई दिल्‍ली में संत रविदार मंदिर को तोड़ने का आदेश कोर्ट से जारी होने के बाद रैदासियों में रोष है। वहीं वाराणसी स्थित सीर गोवर्धन में संत रैदास मंदिर में भी इस बात की जानकारी होने के बाद रैदासियों में राेष है।वाराणसी में सीर गोवर्धन स्थित रविदास मंदिर के प्रबंधक ज्ञानचंद ने बताया कि वाराणसी में रैदासियों के बीव शांति है। हालांकि संत निरंजन दास की तरफ से सरकार से मांग की गई है कि जैसी स्थिति थी वैसी ही यथास्थिति मौके पर कायम रखी जाय। क्योंकि संत रविदास को सिकंदर लोदी ने 87 एकड़ जमीन दी थी जिसपर 200 साल से मंदिर और कमेटी का ही कब्जा था। जिसे सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर तोड़ा गया है जो बहुत ही गलत हुआ है। संत समाज की तरफ से मांग है कि उसे वापस उसी स्थिति में कर दिया जाय। 

अब वाराणसी में भी कोर्ट के फैसले से रैदासियों में रोष, यथास्थिति की उठी मांग

वाराणसी से अन्य समाचार व लेख

» कोरोनावायरस के प्रकोप को रोकने के उद्देश्य

» LBS एयरपोर्ट से पहले दिन 22 फ्लाइटों का आना-जाना हुआ

» इलाज में लापरवाही बर्दाश्त नहीं- DM

» दो पक्षों के बीच झगड़ा, पत्थरबाजी और फायरिंग से दहशत

» ब्रह्माघाट के समीप युवक पर गोली चलाने वाले फरार आरोपी पकडे गए

 

नवीन समाचार व लेख

» किसान कांग्रेस ने जल सत्याग्रह कर प्रदेश अध्यक्ष की रिहाई की मांग की!

» कोई भूखा ना सोये की नीति से अबतक समाजसेवियों ने निभाई है अपनी भूमिका

» पूर्व विधायक ने अपना समय लाक डाऊन के दिनो मे गरीबों, बेसहारा, व श्रमिको के हर तरह से सहयोग कर काट रहे है

» हमीरपुर -महिला अधिवक्ता का संदिग्ध अवस्था में फांसी पर लटका मिला शव

» महोबा में मिला एक और कोरोना पाजीटिव संख्या हुई 12