यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

'मोहम्‍मद आफताब' से शादी के बाद फांसी के फंदे पर झूल गया 'पूजा पटेल' का मॉडल बनने का सपना


🗒 शनिवार, सितंबर 12 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
'मोहम्‍मद आफताब' से शादी के बाद फांसी के फंदे पर झूल गया 'पूजा पटेल' का मॉडल बनने का सपना

 लखनऊ के रहने वाले मोहम्मद आफताब से प्रेम विवाह करने वाली बनारस की पूजा पटेल ने शनिवार को भेलूपुर थाना क्षेत्र में फांसी के फंदे से लटक कर अपनी जान दे दी। परिजनों ने जहां इसके लिए पूजा के पति को दोषी ठहराया है वहीं स्‍थानीय लोग दबी जुबान में मामला लव जिहाद का बता रहे हैं। वहीं पूजा की मां किरण का आरोप है कि जब मोहम्मद आफताब की मां वाराणसी आयी, तभी मामला बिगड़ा। वह अपनी बहू पूजा से नमाज पढ़ने के लिए दबाव बनाती थी और तहजीब से रहने की हिदायत देती थी। जबकि बहू पूजा अपने मायके धार्मिक मान्‍यताओं के अनुसार छठ का पर्व भी मनाने जाती थी। इसी वर्ष वह अपने ससुराल लखनऊ ईद पर भी गयी थी। उसने अपने लड़के का हिन्‍दू नाम नक्ष ही रखा था। हालांकि पूजा ससुराल और मायके दोनों में ही बराबर समन्वय बनाकर रहती थी। वहीं पोस्‍टमार्टम के बाद पूजा का हिंदू रीति रिवाजों संग अंतिम संस्‍कार हरिश्‍चंद्र घाट पर बेटे नक्ष द्वारा किया गया।प्रथमदृष्टया मामला पति-पत्नी के विवाद का लग रहा है। पिता की तहरीर पर पति समेत चार के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर पुलिस मामले की जांच कर रही है। - विकासचंद त्रिपाठी, एसपी सिटी, वाराणसी परिजनों के अनुसार पूजा मार्च के आखिर में मुंबई अपने परिचित मित्र ईशान सिंह के पास एक्टिंग सीखने गई थी। कोरोना संक्रमण शुरु होने के बाद वह जून माह में अपने घर वापस आ गई थी। पति से कुछ दिनों बाद मुंबई दोबारा जाने के लिए जिद करने लगी तो उसका पति शराब पीकर उसे मारने पीटने लगा। वहीं फ‍िल्‍मों में जाने के अपने सपनों को साकार करने के लिए पूजा जब जिद पर आ गई तो अपने पति से तलाक की बात भी करने लगी। परिजनों के अनुसार ससुराल पक्ष को बहू का खुलापन और फ‍िल्‍मों में जाने और एक्टिंग करने की बात नागवार गुजर रहा था। वहीं पूजा की कई माॅडलिंग की तस्‍वीरें भी परिजनों ने दिखाई और कहा कि पूजा का सपना था कि वह सफल हो और अपना मुकाम हासिल करे मगर ससुरालियों की ओर से उसे नमाज पढ़ने को लेकर परेशान किया जा रहा था इस वजह से वह परेशान थी।भेलूपुर थाना क्षेत्र स्थित बड़ी गैबी में शुक्रवार की देर रात एक विवाहिता ने फांसी लगाकर जान दे दी। पुलिस के अनुसार घटना का कारण प्रथम दृष्टया पति- पत्नी का आपसी विवाद बताया गया है। जबकि लड़की के मायके वालों ने दूसरे सम्प्रदाय के ससुरालियों पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है। इस मामले में पति को हिरासत में लेकर लाश को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। वहीं मामले की जानकारी होने के बाद सूचना मिलने पर पहुंचे थाना प्रभारी अजय श्रोत्रीय ने आरोपित पति को गिरफ्तार कर पूछताछ शुरु कर दिया है।बड़ी गैबी स्थित ईश्वर सोनकर के मकान में रथयात्रा में एक कपड़े की दुकान पर काम करने वाला आफताब सिद्दीकी अपनी पत्नी पूजा पटेल के साथ दो कमरे वाले किराए के मकान में रहता था। उस मकान में रहने वाले अन्य किरायेदारों ने बताया कि किसी बात को लेकर पति-पत्नी में खूब झगड़ा हुआ। पति अपनी तीन वर्षीय लड़के नक्ष के साथ दूसरे कमरे में चला गया जबकि पत्नी अन्य कमरे में सोने चली गई। इस दौरान पत्नी ने अंदर से दरवाजा बंद कर रखा था। किरायेदारों के अनुसार रात करीब 12 बजे पति जोर-जोर से पत्नी पूजा के कमरे का दरवाजा पीटने लगा। अचानक आधी रात को शोर सुनकर लोग बाहर आये। खिड़की से जब देखा गया तो पूजा पंखे के सहारे दुपट्टा लगाकर झूल चुकी थी। देर रात ही आनन-फानन में दरवाजा तोड़ा गया। स्‍थानीय लोग उसे लेकर पहले एक निजी चिकित्सालय गए बाद में कबीरचौरा स्थित मंडलीय अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

वाराणसी से अन्य समाचार व लेख

» प्रधानमंत्री के वाराणसी आगमन का समय बदला, अब दो घंटे पहले शुरू होगा दौरा

» 95 बटालियन केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल का मानवता के लिए अभिशाप पर एक गोष्ठी का आयोजन

» वाराणसी में भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा नेता इतरत हुसैन का वीडियो वायरल, कारोबारी को धमकाने का आरोप

» कोविड-19 के विरुद्ध राहत अभियान पूरे सेवा भाव से जारी

» सीएम योगी ने पीएम मोदी के दौरे की देखी तैयारियां, क्रूज पर किया सफर

 

नवीन समाचार व लेख

» कार हादसे में हाईकोर्ट के अधिवक्ता की मौत, सहायक रजिस्ट्रार भी हुए गंभीर जख्मी

» प्रधानमंत्री के वाराणसी आगमन का समय बदला, अब दो घंटे पहले शुरू होगा दौरा

» प्रोफेसर संगीता श्रीवास्तव इलाहाबाद विश्वविद्यालय की कुलपति नियुक्त

» प्रतिबंधित संगठन एसएफजे ने की किसान आंदोलन को साढ़े सात करोड़ देने की घोषणा

» कानपुर में एसबीआइ शाखा के ग्राहक शातिर तरीके से उड़ा देते थे रकम