यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा को जॉइंट ऐक्शन कमेटी द्वारा भेजे गए ज्ञापन की प्रति प्रकाशनार्थ


🗒 गुरुवार, अप्रैल 22 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा को जॉइंट ऐक्शन कमेटी द्वारा भेजे गए ज्ञापन की प्रति प्रकाशनार्थ
ब्यूरो चीफ संदीप विश्वकर्मा वाराणसी
वाराणसी 
विषय : कोविड महामारी में बनारस में उपलब्ध सुविधाओं , मरीजों की जरूरत और प्रशासन की भूमिका पर सहयोग की भावना से जॉइंट ऐक्शन कमेटी के सुझाव। 
 
महोदय , इस महामारी से लड़ने के लिए शासन-प्रशासन के साथ ही हम छात्र और नागरिक समाज भी प्रतिबद्ध है। जॉइंट ऐक्शन कमेटी की ओर से कुछ सुझाव जिला प्रशासन को सादर प्रेषित है।
 
1 प्रशासनिक अधिकारियों के राउंड द क्लॉक काम करने के बावजूद प्रशासन पर लोग भरोसा और विश्वास नहीं कर पा रहे हैं। इसलिए बहुत जरूरी है कि जिले के आला अधिकारी प्रतिदिन शाम या रात में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मीडिया और जनता को ताजा हालात की जानकारी दें। ऐसा नहीं होने से लोग बदहवास हैं। 
 
2 RTPCR जाँच की गति को बढ़ाया जाए। निजी लैब को भी टेस्ट करने की छूट और निर्देश दिया जाए। 
 
3 वैक्सीनेशन की गति को बढ़ाया जाए। 
 
4 KCRC के द्वारा जारी किये गए आंकड़े के अनुसार बनारस शहर में 650 ऑक्सीजन युक्त बेड की उपलब्धता है। बनारस में कोविड के लिए उपलब्ध अस्पतालों का दायरा बढ़ाया जाए , उदाहरण के लिए गोदौलिया स्थित मारवाड़ी अस्पताल, भदैनी स्थित माता आनंदमयी अस्पताल , सेवा सदन बांसफाटक , बिड़ला मछोदरी , जनकल्याण बिरदोपुर आदि चिकित्सालयों को भी कोविड चिकित्सा के उपयोग में लिया जाए। 
4 A संभव है की प्रशासन उक्त अस्पतालों को उनकी सुविधा ... ऑक्सीजन, वेंटिलेटर उपलब्धता आदि के कसौटियों पर परख कर उपयोग में न ले रहा हो। लेकिन ग्राउंड सिचुवेशन देखते हुए हमारा यह स्पष्ट मानना की एक मरीज जिसे की कोविड की संभावना है या उसे कोई अन्य बीमारी है वो अपने घर में ही कई बार बिना प्रॉपर केयर और पहले से मिडिया और कटटरपंथियो द्वारा फैलाए गए डर के कारण लाइलाज रह जा रहे है। इन सुविधाओं से च्युत अस्पतालों में कम से कम एक मेडिकल प्रोफेशनल की निगरानी में मरीज को उचित सलाह और देखरेख मिल पाएगी।   
5 KCRC द्वारा 21/04 को जारी प्रेस रिलीज को देखे तो वेंटिलेटर की उपलब्धता 100 भी नहीं पंहुच पा रही है , उसे तत्काल बढ़ाए जाने की जरूरत है। 
6 जिलाधिकारी महोदय द्वारा जारी अस्पतालों की सूची और साथ ही दिए गए डॉक्टरों के मोबाइल नंबर, वास्तव में हमारे फ्रंट लाइन सोल्जर डॉक्टर्स की परेशानियां बढ़ा रहे है, जो पहले ही अपनी क्षमता से कई गुना अधिक काम कर रहा है। बेहतर ये हो कि 'डिजिटल इंडिया' के तहत सारे अस्पताल बेड की उपलब्धता ऑनलाइन हो और KCRC  नोडल ऑफिस में लोग कॉल करके जानकारी ले सके। बेहतर हो अगर कोई लाइव साइट हो जो ये जानकारी उपलब्ध करवाए।
 7 कुछ सामाजिक काम करने वाले समूहों का भी इस प्रक्रिया में लाभ लिया जाना चाहिए। विभिन्न धार्मिक और सामाजिक संगठनों विषेकर ईसाई और सिख समुदाय द्वारा संचालित अस्पतालों या सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों जैसे शिवाला में मौजूद ईसाई केंद्र और गुरुबाग में मौजूद खालसा अस्पताल से भी मदद के लिए जिला प्रशासन मांग कर सकती है। कोविड या नॉन कोविड रोगियों के ईलाज के लिए ये उपक्रम भी काफी मददगार साबित हो सकते हैं।
8 ऑक्सीजन की कमी के बीच जिले में ऐसे कई निजी संस्थान हैं जो आपूर्ति कर रहे है , लेकिन फोन कॉल से परेशान होकर जवाब देना बंद कर दे रहे है। मरीजों में अफरातफरी मच रही है। ऐसे में जिले में उपलब्ध ऑक्सीजन निर्माताओं का एक टाइम टेबल जारी हो की नंबर एक से तीन तक की दूकान पर ऑक्सीजन सुबह 10 से 12 तक उपलब्ध रहेगा।  इसके बाद नंबर 4 से 7 तक का उपलब्ध रहेगा।  उक्त समय के बाद भी संसथान देना चाहे तो दे मगर टाइम टेबल में दिए हुए समय पर मरीज को ऑक्सीजन देना जरूरी है।
9 जिले के बूढ़े-बुजुर्ग और नॉन कोविड रोगी अस्पताल के ओपीडी ना चल पाने की सूरत में अत्यंत मुश्किल हालात से गुजर रहे हैं। इसलिए प्रशासन से निवेदन है कि टेली कम्युनिकेशन के माध्यम से रोगियों को डॉक्टरी सुझाव उपलब्ध कराई जाए। इस काम में सेवानिवृत चिकित्स्कों से भी मदद ली जा सकती है। जॉइंट ऐक्शन कमेटी BHU के डॉक्टरों से सम्पर्क में है और टेलिकालिंग से मरीजों को लाभ पंहुच सके ऐसी कोशिश कर रही है। 
महोदय , आपको ज्ञात हो की जॉइंट ऐक्शन कमेटी के छात्र वोलेंटियर लगातार आपको , सीएमओ साहब और ड्रग कंट्रोलर को कॉल करके मरीजों को मदद पंहुचवाने की कोशिश में लगे हुए हैं।  ऑक्सीजन और दवा वगैरह की जो डिमांड फेसबुक व्हाट्सऐप पर आ रही है उसको यथासम्भव पता करके मरीजों को जानकारी देने की कोशिश की जा रही है। संभव है की उपरोक्त सुझावों में कुछ उपयोग में लेने से हम ऑन एवरेज जितने लोगो तक हेल्थ सपोर्ट पंहुचा रहे थे उसमे कुछ इजाफ़ा हो जाए , इसलिए सादर उपयोग में लें

वाराणसी से अन्य समाचार व लेख

» वाराणसी में नकली एसटीएफ अधिकारी बताकर वसूली मामले में इनामी गिरफ्तार

» वाराणसी में मनमाफिक गाने के विवाद में बरातियों पर ट्रैक्टर चढ़ाने का प्रयास

» जौनपुर से जुड़े हैं पीएनबी के प्रबंधक की हत्या के तार, 47 लाख रुपये की लूट मामले में नए तथ्य सामने

» वाराणसी में पीएनबी मैनेजर की हत्या और लूट की जांच में पुलिस दे रही दबिश

» वाराणसी में चोरी की दो बाइक संग तीन गिरफ्तार

 

नवीन समाचार व लेख

» शौक पूरे करने के लिए लुटेरे बन गए राजस्थान के छात्र

» कानपुर सेंट्रल स्टेशन पर काम करते पर पकड़े गए 16 फर्जी कर्मचारी

» मेरठ मे चुनावी रंजिश में युवक की हत्या के दो आरोपित गिरफ्तार

» प्रतापगढ़ में सो रहे थे रिटायर डिप्टी एसपी को मार दी गोली

» धोखे से किया युवती का सौदा, शातिर ने ऐंठे सात लाख रुपये, दो आरोपित दबोचे गए