यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

जौनपुर से जुड़े हैं पीएनबी के प्रबंधक की हत्या के तार, 47 लाख रुपये की लूट मामले में नए तथ्य सामने


🗒 गुरुवार, जून 10 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
जौनपुर से जुड़े हैं पीएनबी के प्रबंधक की हत्या के तार, 47 लाख रुपये की लूट मामले में नए तथ्य सामने

वाराणसी, । फूलपुर थाना क्षेत्र के पिंडराई गांव के पास बुधवार शाम पीएनबी की करखियांव-पिंडरा शाखा प्रबंधक फूलचंद राम की हत्या और 47 लाख रुपये की लूट मामले में नए तथ्य सामने आए हैं। जौनपुर के जलालपुर थाना क्षेत्र के कुसियां गांव निवासी बैंक मैनेजर की हत्या के तार जौनपुर से जुड़े नजर आ रहे हैं। वाराणसी से जौनपुर पहुंचे बैंक अधिकारियों की छानबीन के बाद यह स्पष्ट हुआ है।गुरुवार सुबह ही पीएनबी वाराणसी के मुख्य शाखा प्रबंधक प्रवीण कुमार सिंह के नेतृत्व में बैंक अफसरों की टीम मड़ियाहूं पहुंची। स्थानीय शाखा में सीसीटीवी फुटेज खंगाले और छानबीन की। इसमें सामने आया कि 41 लाख रुपये जौनपुर के मड़ियाहूं स्थित पीएनबी शाखा से निकाले गए थे। फिलहाल अधिकारी अधिक कुछ बताने से कतरा रहे हैं, लेकिन प्रवीण कुमार सिंह ने मड़ियाहूं शाखा से 41 लाख रुपये निकालने की पुष्टि की। यह रुपये सुबह 11 से 12 बजे के बीच निकाले गए। अब मड़ियाहूं शाखा से दिन में रुपये निकालने और शाम को हत्या को पुलिस कई कोण से देख रही है।आशंका जताई जा रही है कि बैंक मैनेजर पर मड़ियाहूं से ही नजर रखी जा रही थी। वैसे इस हत्या को पंचायत चुनाव से भी जोड़कर देखा जा रहा है। कारण यह कि शाखा प्रबंधक के चचेरे भाई जलालपुर ब्लाक से ब्लॉक प्रमुख पद के दावेदार भी हैं। उधर, सुबह गोमती नदी किनारे राजेपुर त्रिमुहानी घाट पर बैंक प्रबंधक का अंतिम संस्कार कर दिया गया। वहीं मैनेजर के गांव कुसियां गांव में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। बैंक मैनेजर मड़ियाहूं शाखा से 41 लाख जारी कराने के साथ शाम को अपनी ब्रांच से भी शाम को छह लाख रुपये लेकर निकले थे। बैंक अधिकारियों की पड़ताल में भी बैंक के हिसाब में 47 लाख कम हैं।पीएनबी शाखा करखियांव के प्रबंधक फूलचंद राम के हत्या व लूट के बाद आज दूसरे दिन बैंक का ताला तो खुला किन्तु ग्राहकों के लिए नहीं अपितु दिन भर जांच ही होती रही । डीजीएम प्रमोद कुमार रंजन जोनल ऑफिस वाराणसी व डीजीएम राजेश कुमार मंडलीय कार्यालय वाराणसी अपने मातहतों के साथ शाखा में रहकर जांच में लगे रहे किन्तु कोई जानकारी देने से साफ इंकार कर रहे है ।

वाराणसी से अन्य समाचार व लेख

» वाराणसी में नकली एसटीएफ अधिकारी बताकर वसूली मामले में इनामी गिरफ्तार

» वाराणसी में मनमाफिक गाने के विवाद में बरातियों पर ट्रैक्टर चढ़ाने का प्रयास

» वाराणसी में पीएनबी मैनेजर की हत्या और लूट की जांच में पुलिस दे रही दबिश

» वाराणसी में चोरी की दो बाइक संग तीन गिरफ्तार

» वाराणसी में इनामी बदमाश के नाम पर ट्रांसपोर्टर से मांगी 50 लाख रुपये की रंगदारी

 

नवीन समाचार व लेख

» कानपुर सेंट्रल स्टेशन पर काम करते पर पकड़े गए 16 फर्जी कर्मचारी

» मेरठ मे चुनावी रंजिश में युवक की हत्या के दो आरोपित गिरफ्तार

» प्रतापगढ़ में सो रहे थे रिटायर डिप्टी एसपी को मार दी गोली

» धोखे से किया युवती का सौदा, शातिर ने ऐंठे सात लाख रुपये, दो आरोपित दबोचे गए

» प्रयागराज में युवक पर धारदार हथियार से हुआ था हमला, मौत