यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

चूहा समझ कर पकड़ा लिया सांप,बच्‍ची की गई जान


🗒 गुरुवार, सितंबर 16 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
चूहा समझ कर पकड़ा लिया सांप,बच्‍ची की गई जान

वाराणसी। रात के अंधेरे में जहरीले सर्प के काटने पर मासूम ने न केवल उसे चूहा समझ लिया, बल्कि उसे पकड़कर मां को दिखाने लगी। टार्च जलाकर जब तक मां देख पाती, तब तक सर्प मासूम के हाथ पर सात वार कर चुका था। डाक्टर को दिखाने की बजाय घरवाले झाड़-फूंक के चक्कर में पड़ गए। इसके चलते मासूम को सही समय पर इलाज नहीं मिल पाया और उसकी मौत हो गई।घटना बड़ागांव थाना क्षेत्र के वाजिदपुर गांव की है। जानकारी अनुसार वाजिदपुर गांव निवासी रोहित राम की बेटी शीतल (10 वर्ष) बुधवार की रात अपनी मां रीता देवी के साथ एक ही चारपाई पर सोई थी। बिजली आपूर्ति न होने के चलते घर में अंधेरा थ। रात में करीब एक बजे शीतल को सांप ने डस लिया। इस पर शीतल ने उसे पकड़ लिया और मां से बोली कि मेरे हाथ में चूहे ने काट लिया है और मैंने उसे पकड़ रखा है। मां ने मोबाइल का टार्च जलाया तो सांप को देखकर उनके होश उड़ गए। तब तक सांप शीतल के हाथ पर एक के बाद एक सात वार कर चुका था। मां के चिल्लाने पर परिवार के अन्य लोग भी वहां पहुंचे और मासूम को लेकर झाड़-फूंक कराने चल दिए।झाड़-फूक के बाद शीतल की हालत में कुछ सुधार हुआ तो रात करीब ढाई बजे उसे लेकर वापस घर आए। मां रीता देवी के मुताबिक भोर में तीन बजे फिर उसकी हालत बिगड़ने लगी। इसके बाद वह अपने हाथ पर उंगली से ही कुछ लिखकर हाथ जोड़ कर रोने लगी। वे कुछ समझ पाती तब तक शीतल बेहोश हो गई। इस बार परिवार के लोग उसे लेकर नजदीकी निजी हास्पिटल पहुंचे। वहां से कबीरचौरा रेफर कर दिया गया। मंडलीय अस्पताल कबीरचौरा पहुंचने पर डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। 

वाराणसी से अन्य समाचार व लेख

» ज्ञानवापी मामले में बहस पूरी, फैसला 20 सितंबर को

» सामूहिक दुष्कर्म मामले में वांछित इंस्पेक्टर गिरफ्तार

» रिटायर्ड एडीओ सहकारिता को वाराणसी शाखा के ईओडब्लू ने किया गिरफ्तार

» फर्जी पर्सनल आइडी पर बने रेल टिकट के साथ एजेंट गिरफ्तार

» आरोपित छात्रा का भाई अभय वाराणसी में गिरफ्तार