यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

स्‍नान करने पहुंचे किशोर की गंगा नदी में डूबने से मौत


🗒 मंगलवार, अक्टूबर 12 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
स्‍नान करने पहुंचे किशोर की गंगा नदी में डूबने से मौत

वाराणसी, । भेलूपुर थाना क्षेत्र स्थित तुलसीघाट पर गंगा में स्नान के लिए उतरे आयुष त्रिपाठी (18) की गंगा में डूबने से मौत हो गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने गोताखोरों की मदद से शव को निकलवाया। कब्जे में लेकर शव को पोस्टमार्टम हाउस भेज दिया। आयुष को डूबते देख उसके साथ मौजूद मौसी के बेटे सुधांशु मिश्रा ने शोर मचाया, लेकिन कोई उसके पास पहुंच नहीं सका जिसकी वजह से डूबने से किशोर की मौत हो गई।मऊ के टिनहरी के रहने वाले रविकांत त्रिपाठी का इकलौता बेटा आयुष अपने मौसी के बेटे सुधांशु सहित सात लोगों के साथ रविवार शाम को घर से विंध्याचल दर्शन पूजन करने के लिए निकला। सोमवार को विंध्याचल माता का दर्शन पूजन कर सभी मंगलवार को तुलसीघाट पहुंचे। घाट पर पहुंचने के बाद आयुष सबसे पहले कपड़ा उतार कर गंगा में कूद गया। सामने करार और गहरा पानी होने के कारण देखते ही देखते वह गंगा नदी में समा गया। आयुष की एक बहन पूजा और मां का रो- रोकर बुरा हाल हो गया। वहीं जानकारी होने के बाद पुलिस टीम ने गोताखोरों की मदद से शव को निकलवाया तो देखकर सभी के आंसू छलक पड़े।परिजनों ने बताया कि आयुष के पिता पूजा -पाठ कराकर जीवकोपार्जन करते थे। आयुष 12 वीं कक्षा में पढ़ता था। घाट पर मौजूद आयुष के मौसी का बेटा सुधांशु बार- बार अपने को कोस रहा था कि वह लोग नदी में नहाने का प्‍लान बनाए ही क्‍यों थे। यही कहकर वह काफी देर तक रोता रहा। बताया कि विंध्याचल में भी सोमवार को सभी ने गंगा नदी में स्नान किया था। आयुष के कहने पर ही सभी विंध्याचल से घूमने काशी आए थे। गंगा में स्‍नान के बारे में प्‍लान बनाया तो सभी तैयार तो हो गए लेकिन नदी में पानी गहरा होने की जानकारी नहीं होने से वह नदी के किनारे गहरे पानी में डूब गया।